हमारे WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे Thar portal2 4 थार एक्सप्रेस ग्रुप में जुड़ें ताजा समाचार आपको मिलेंगे लिंक पर क्लिक करें। Thar portal 25 थार एक्सप्रेस में न्यूज़ भेजने के लिए इस ग्रुप में जुड़ें। प्रामाणिक घटना की जानकारी भेज सकते हैं.

जिला पुस्तकालय परिसर में बनेगा वातानुकूलित भवन
बीकानेर, 24 दिसम्बर। जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने कहा कि सुजानदेसर में जो पानी भर जाता है, उसके स्थाई समाधान को तलाशने का कार्य इंजीनियरिंग काॅलेज के वरिष्ठ प्रोफेसर और छात्रों की टीम द्वारा खोजा जाएगा, ताकि यहाँ पानी एकत्रित न हो। गौतम ने मंगलवार को चांदमल बाग और उसके पास बने न्यास की ट्रीटमेंट प्लांट सहित आसपास के क्षेत्र का निरीक्षण करने के बाद यह बात कही।
गौतम ने कहा कि यहाँ जो पानी एकत्रित हो रहा है, इस पानी का बेहतर उपयोग हो, इसके लिए इंजीनियरिंग काॅलेज के प्रोफेसरों के साथ-साथ किसी कंसल्टेंसी के द्वारा भी एक कार्ययोजना शीघ्र बने, इसके लिए नगर विकास न्यास कंसल्टेंसी कंपनी को हायर करने के लिए टेण्डर प्रक्रिया शीघ्र प्रारंभ करे। उन्होंने कहा कि गंगाशहर में नगर विकास न्यास द्वारा बने पंपिंग स्टेशन की आॅपरेटिंग अब तक न्यास द्वारा ही की जा रही थी। इस पंपिंग स्टेशन को अब नगर निगम को हस्तांरित किया जाए। इसके लिए आयुक्त नगर निगम व सचिव नगर विकास न्यास आपस में मीटिंग कर हस्तांतरण की कार्यवाही शीघ्र करें।
जिला कलक्टर ने सुजानदेसर में भरे हुए पानी, पंपिंग स्टेशन सहित आसपास पड़ी खुली जमीन को देखा तथा वहाँ के नागरिकों से बातचीत करते हुए कहा कि अगर यहाँ खुली पड़ी भूमि पर ट्रीटमंेट के पानी के माध्यम से घास या अन्य सामग्री की खेती की जाए, तो इसकी क्या संभावना रहेगी। कुछ नागरिकों का मानना था कि अगर यह व्यवस्था की जाती है, तो आसपास के जो पशु हैं, उन्हें चारा भी मिल सकता है और पानी से हो रही परेशानी से निजात मिल सकती है। इस दौरान न्यास सचिव मेघराज सिंह मीणा, त्रिलोकी कल्ला सहित न्यास और आरयूआईडीपी के अभियन्ता भी साथ थे।
एनएलसी करेगा सामाजिक सरोकार में पुस्तकालय का निर्माण
जिला कलक्टर ने बताया कि नेवेली लिग्नाईट काॅरपारेशन द्वारा सामाजिक सरोकार के तहत जिला पुस्तकालय (स्टेट लाइब्रेरी) परिसर में एक अतिरिक्त भवन बनाया जाएगा। इस भवन पर होने वाला संपूर्ण व्यय नेवेली द्वारा वहन किया जाएगा। मंगलवार को जिला कलक्टर कक्ष में नेवेली लिग्नाईट काॅरपारेशन के अधिकारियों के साथ हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया।
गौतम ने बताया कि सामाजिक सरोकार के तहत इस पुस्तकालय एवं वाचनालय के निर्माण की जरूरत के बारे में गत दिनों वहाँ पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं ने अगवत करवाया था। यहां प्रतिदिन दो सौ से अधिक छात्र और छात्राएं अध्ययन कर रहे हैं। यहां गर्मी के दिनों में युवा पेड़ों की छांव में और इमारतों के कोनों में बैठकर भी अध्ययन करते हैं। इनमें से अधिकतर छात्र-छात्राएं आसपास के गांवों से आकर भी यहां तैयारी कर रहे हैं। इन्हें अपने किराये के मकानों व कमरों में शांत वातावरण उपलब्ध नहीं हो पाता इसलिए वे यहां एकांत में आकर अपनी पढ़ाई करते हैं। जिला कलक्टर ने युवाओं को बेहतर अध्ययन का माहौल उपलब्ध कराने के लिए यहाँ अतिरिक्त भवन बनाने की आवश्यकता को महसूस करते हुए एनएलसी से यहाँ भवन बनाने की बात कही थी, जिसे सिद्धान्ततः आज स्वीकृति दी गई। नए बनने वाले भवन में सभी आधुनिक सुविधाए होंगी, जिसमें सभी आधारभूत सुविधाओं सहित महिला और पुरूष के लिए पृथक-पृथक टाॅयलेट की सुविधा भी रहेगी। नए बनने वाले इस आधुनिक भवन को वातानुकूलित बनाया जाएगा। इसमें मैरिट में आने वाले गरीब छात्र-छात्राओं को प्राथमिकता दी जाएगी।
जिला कलक्टर ने बताया कि नेवेली द्वारा एक चैराहे को गोद भी लिया जाएगा, जिसके रखरखाव और सुसजिज्त करने का कार्य भी काॅरपोरेशन द्वारा किया जाएगा।