हमारे WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे थार एक्सप्रेस ग्रुप में जुड़ें ताजा समाचार आपको मिलेंगे लिंक पर क्लिक करें। Thar portal 1

गंगाशहर। आचार्यश्री महाश्रमण जी के आज्ञानुवर्ती प्रेक्षाप्राध्यापक शासनश्री मुनिश्री किशनलालजी स्वामी ने आज दोपहर 01ः08 बजे चैविहार संथारा स्वीकार किया है। मुनिश्री पिछले कुछ समय से सरदारशहर में ही प्रवासरत है। पिछले कुछ दिनों से आहार लेना बंद कर दिया था। प्राप्त सूचना के अनुसार आज दोपहर 12ः55 पर तिविहार संथारा मुनिश्री देवेन्द्र कुमार जी ने पचखाया। मुनिश्री के संसारपक्षीय भाई कन्हैयालाल पटावरी (कोलकाता) मोमासर वहां सपरिवार सरदारशहर है। मुनिश्री ने पे्रक्षाध्यान एवं जीवन विज्ञान के बारे में बहुत साहित्य लिखा है। उनकी लिखी पुस्तकें काॅलेजों और स्कूलों में पढ़ाई जाती है। मुनिश्री किशनलालजी द्वारा लगाये गए प्रेक्षाध्यान के अनेक प्रशिक्षिक तैयार किए है जो आज देश-विदेश में प्रेक्षाध्यान के शिविर आयोजित करते हैं।