हमारे WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे थार एक्सप्रेस ग्रुप में जुड़ें ताजा समाचार आपको मिलेंगे लिंक पर क्लिक करें। Thar portal 1

गंगाशहर। भगवान महावीर की जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित होने वाले सभी कार्यक्रम को तप और जप में बदल दिया गया है। जैन महासभा बीकानेर के अध्यक्ष जैन लूणकरण छाजेड़ ने बताया कि  भगवान महावीर के आज्ञानुवर्ती चारित्रात्माओं की प्रेरणा है कि तपस्या जैसे उपवास व आयंबिल तप का सुरक्षा चक्र अत्यंत प्रभावशाली होता है जिससे हम महामारी के प्रकोप से बच सकते हैैं। उन्होंने कहा कि नवरात्रा एवं महावीर जयंती को मध्यनजर रखते हुए 21 दिनों तक अपने अपने क्षेत्रों में प्रत्येक दिन प्रत्येक घर से कम से कम एक सदस्य उपवास, एकासन, आयंबिल, सामायिक एवं 21 मिनट का जाप, स्वाध्याय, ध्यान व रात्रि भोजन का त्याग अवश्य करें। महामंत्री सुरेन्द्र बद्धाणी ने कहा कि संदेश को अपने-अपने क्षेत्र में व्हाट्सअप ग्रुप और सोशल मीडिया के माध्यम से घर-घर भिजवाएं ताकि सभी क्षेत्रों में जप-तप अवश्य हो। अपने को घर पर रखकर इसी प्रकार हम भीतर की यात्रा करते हुए भगवान महावीर जयंती का आयोजन जप और तप से कर पाएंगे। इस जप-तप आराधना में शामिल होवें। उन्होंने कहा कि भगवान महावीर जन्मकल्याणक पर हमारी यह सच्ची भावांजलि होगी।