बीकानेर रेंज में 1059 बदमाश चिन्हित, रोहित गोदारा जो रावताराम स्वामी से सात साल में गैंगस्टर बन गया

stba

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

जिला पुलिस व रेंज कार्यालय की स्पेशल टीम कर रही काम

L.C.Baid Childrens Hospiatl

रोहित से सीधे संपर्क में रहे हजार लोगों का टीम ने लगाया पता, अकेले बीकानेर में 500 लोग चिन्हित

mona industries bikaner

बीकानेर, 8 दिसम्बर। प्रदेश के अपराध जगत में रावताराम स्वामी उर्फ रोहित गोदरा पुलिस के लिए चुनौती के रूप में आ खड़ा हुआ है। पिछले दो साल में बड़ी-बड़ी वारदातों को अंजाम देने के बाद जिम्मेदारी लेकर वह अब पुलिस, प्रशासन की आंखों में खटकने लगा है। रावताराम स्वामी ने बीते सात साल में गैगस्टर रोहित गोदारा बनने तक का सफर तय किया है। कुख्यात बदमाश आनंदपाल सिंह के एनकाउंटर में मारे जाने और राजू ठेहट की हत्या के बाद अब गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई व रोहित गोदारा पुलिस के निशाने पर हैं। बीकानेर रेंज पुलिस कार्यालय ने संभागभर से गैंगस्टर लॉरेंस व रावताराम से जुड़े करीब एक हजार युवकों को चिन्हित किया है, जो प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े हुए हैं। अकेले बीकानेर में गैंगस्टर रावताराम उर्फ रोहित गोदारा से सीधे संपर्क में 500 लोग हैं। बीकानेर पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम ने एक स्पेशल टीम से गैंगस्टर रावताराम उर्फ रोहित के खास गुर्गों की कुंडली तैयार कराई है।

पीएचक्यू के सख्त निर्देश, गुर्गों को भेजें जेल
करीब आठ महीने पहले पुलिस मुख्यालय से एडीजी क्राइम ने गैंगस्टर रावताराम उर्फ रोहित गोदारा से संपर्क रखने एवं उसकी मदद करने वाले करीब 60 व्यक्तियों की सूची बीकानेर रेंज पुलिस महानिरीक्षक ओमप्रकाश एवं पुलिस अधीक्षक को भेजी थी। इसमें बताया कि 60 लोग रोहित से सीधे संपर्क में हैं और 459 लोग सोशल मीडिया के माध्यम से संपर्क में हैं। जिला पुलिस ने 60 खास और 459 लोगों की पूरी कुंडली तैयार की थी। यह लोग क्या काम करते हैं। इनकी चल-अचल संपत्ति कितनी है। इनके खिलाफ कोई मुकदमा दर्ज है या नहीं। अगर मुकदमा दर्ज है, तो किस तरह का और वर्तमान में उसका स्टेटस क्या है।
रेंज में 1177 बदमाश, 25 की संपत्ति पर संकट
बीकानेर रेंज में 1177 आदतन अपराधी हैं, जिनमें से 1059 सक्रिय हैं। ऐसे में इन सक्रिय बदमाशों पर पुलिस नकेल डालने की कोशिश कर रही है। पुलिस विभाग के आंकड़ों के मुताबिक बीकानेर में 445, श्रीगंगानगर में 391, चूरू में 193 एवं हनुमानगढ़ में 149 आदतन अपराधी हैं। बीकानेर रेंज पुलिस बदमाशों, माफियाओं एवं तस्करों की चल-अचल संपत्ति का ब्योरा संग्रहित कर चुकी है। इन माफिया-तस्करों में से रेंजभर से 25 बदमाशों को चिन्हित किया गया है। बीकानेर व श्रीगंगानगर में एक-एक हार्डकोर बदमाश की संपत्ति को पुलिस व प्रशासन जब्त कर चुका है।
इतनों के खिलाफ डेढ़ साल में इस्तगासे
पुलिस विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, वर्ष 2023 में बदमाश हरिओम रामावत को राजपासा में निरुद्ध किया गया है। इसके अलावा वर्ष 2022 में बीकानेर, श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ में एक भी सक्रिय बदमाश के खिलाफ राजपासा एक्ट में कार्रवाई करने के लिए एक भी इस्तगासा नहीं पेश किया गया, जबकि चूरू में तीन बदमाशों के खिलाफ पेश किए गए। वहीं वर्ष 2023 में बीकानेर में दो, श्रीगंगानगर में एक, हनुमानगढ़ में चार, एवं चूरू में दो बदमाशों पर राजपासा-एक्ट में कार्रवाई करने के लिए पुलिस ने इस्तगासे जिला कलक्टर के समक्ष पेश किए हैं। यह इस्तगासे संबंधित जिलों के कलक्टर एवं कुछ गृह विभाग के पास विचाराधीन हैं। बीकानेर रेंज में करीब सात सालों में बीकानेर रेंज में 267 से अधिक इस्तगासे पेश कर 23 बदमाशों को जिलाबदर करवाया है। पुलिस ने राजपासा की बजाय गुंडा एक्ट में अधिक कार्रवाई की है।

पुलिस महानिरीक्षक बीकानेर रेंज ओमप्रकाश ने कहा कि गैंगस्टरों के खिलाफ होगी बड़ी सर्जरी
गैंगस्टर खुद सामने नहीं आकर गुर्गों से वारदात को अंजाम दिलवा रहे हैं। युवा गैंगस्टरों के झांसे में आकर जिंदगी बर्बाद कर रहे हैं। अब पुलिस गैंगस्टरों के खिलाफ बड़ी सर्जरी करेगी। इसकी पूरी कार्ययोजना तैयार है। बीकानेर रेंज में 1059 बदमाश चिन्हित हैं, जिनमें से कई बदमाशों को सलाखों के पीछे पहुंचाया जा चुका है।

 

थार एक्सप्रेस
CHHAJER GRAPHIS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *