पारदर्शी तरीके से परीक्षाएं संपादित करवाने के लिए प्रशासन प्रतिबद्ध-जिला कलेक्टर

stba

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

  • एसओपी की अनुपालना सुनिश्चित करने के दिए निर्देश- केन्द्राधीक्षकों के साथ बैठक ली
  • जिले में 55 परीक्षा केन्द्रों पर रविवार को आयोजित होगी परीक्षा

बीकानेर, 6 जनवरी। जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने कहा कि प्रतियोगी परीक्षाएं पारदर्शी व विश्वसनीय तरीके से संपादित करवाना राज्य सरकार की सर्वाेच्च प्राथमिकता है। इसे सुनिश्चित करने के लिए पुलिस और प्रशासन द्वारा गंभीर और अतिरिक्त सतर्कता के साथ कड़ी व्यवस्था कर समस्त इंतजाम चाक-चौबंद किए गए हैं।
जिला कलेक्टर ने पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम के साथ शुक्रवार को जिले के विभिन्न परीक्षा केंद्र प्रभारियों के साथ बैठक आयोजित कर इस संबंध में स्पष्ट निर्देश दिए।
जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने कहा कि विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के अभ्यर्थियों को समान अवसर मिले तथा सिस्टम में भरोसा सुनिश्चित करने के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं। इस संबंध में जारी एस ओ पी की अनुपालना में किसी भी स्तर पर कोताही स्वीकार नहीं की जाएगी। जिला कलेक्टर ने कहा कि सभी केंद्र प्रभारी अपनी जिम्मेदारी समझें।
जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने बताया कि राजस्थान लोक सेवा आयोग अजमेर द्वारा सहायक आचार्य, पुस्तकालयाध्यक्ष एवं शारीरिक प्रशिक्षण अनुदेशक प्रतियोगी परीक्षा 2023 (कालेज शिक्षा विभाग) 7 जनवरी को आयोजित होगी। जिले में 55 परीक्षा केंद्रों पर 18 हजार 504 अभ्यर्थी पंजीकृत है। 55 परीक्षा केंद्रों में से 24 राजकीय तथा 31 अराजकीय केंद्र है। राजस्थान का सामान्य ज्ञान विषय की परीक्षा एक सत्र में दोपहर 12 बजे से 2 बजे तक होगी।

L.C.Baid Childrens Hospiatl

परीक्षार्थियों को 11 बजे से पूर्व करना होगा केंद्र में प्रवेश
जिला कलेक्टर ने बताया कि सभी परीक्षार्थियों को 11 बजे से पूर्व ही परीक्षा केंद्र में अनिवार्यतः प्रवेश करना होगा। ठीक 11 बजे केंद्र के द्वार बंद कर दिए जाएंगे। इसके बाद किसी भी अभ्यर्थी को प्रवेश नहीं मिलेगा, ऐसे में सभी अभ्यर्थी समय से पूर्व परीक्षा केंद्र पर पहुंचना सुनिश्चित करें ताकि किसी भी प्रकार की असुविधा से बचा जा सके।

mona industries bikaner

परीक्षा से 1 दिन पूर्व भी होगा निरीक्षण- आरएएस के नेतृत्व में बनाई गई हैं दस टीमें
जिला कलेक्टर ने बताया कि परीक्षा में अनुचित साधनों का प्रयोग ,नकल आदि को रोकने के लिए 10 सतर्कता दल गठित किये गये हैं। प्रत्येक दल में एक आरएएस, एक आरपीएस तथा एक आरईएस को शामिल किया गया है। सतर्कता दल के प्रभारी आरएएस अधिकारी परीक्षा से एक दिवस पूर्व भी परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण कर व्यवस्थाएं सुनिश्चित करेंगे।

हर प्रश्न में अनिवार्य रूप से भरना होगा गोला
जिला कलेक्टर ने बताया कि यह परीक्षा वस्तुनिष्ठ प्रकार की है जिसमें अभ्यर्थी को प्रत्येक प्रश्न पांच में विकल्प प्रदान किए जाएंगे। अभ्यर्थी यदि किसी प्रश्न का उत्तर नहीं देना चाहता तो उसे पांचवें विकल्प का गोला आवश्यक रूप से भरना होगा।

पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम ने कहा कि सभी 55 सेंटर पर अभ्यर्थियों की संख्या के अनुरूप ए बी व सी श्रेणी बनाकर जाब्ता व तैनात किया जाएगा। फ्रिस्किंग और चेकिंग में लगने वाले समय को देखते हुए आवश्यकता के अनुसार टीमें लगाई गई है। लीगल प्रावधानों की जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक ने कहा कि पेपर लीक के संबंध में बने कानून के प्रावधान बहुत सख्त है यदि किसी भी प्रकार की अवांछित गतिविधि पाई गई तो संबंधित के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

एडीएम सिटी होंगे परीक्षा समन्वयक
जिले के परीक्षा समन्वयक अतिरिक्त जिला कलेक्टर (नगर) जगदीश प्रसाद गौड़ तथा पुलिस नोडल अधिकारी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (शहर) दीपक शर्मा को नियुक्त किया गया है।‌

सभी केन्द्रों पर होंगे राजकीय शिक्षक ही होंगे वीक्षक
जिला कलेक्टर भगवती ने बताया कि परीक्षा के प्रश्न पत्रों को कोष कार्यालय से परीक्षा केंद्र तक भिजवाने एवं परीक्षा उपरांत सामग्री संग्रहण के लिए 19 उप समन्वयक दलों का गठन किया गया है। सभी दलों के प्रभारी राजपत्रित अधिकारी होंगे। ये दल परीक्षा केंद्रों पर एक दिवस पूर्व सभी आवंटित केंद्रों पर समस्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित करेंगे। सभी दलों में सुरक्षा के लिए एक पुलिस गार्ड की तैनाती भी की गई है। सभी 55 परीक्षा केंद्रों पर 55 केंद्राधीक्षक नियुक्त किए गए हैं, सभी राजकीय केंद्रों पर एक-एक पर्यवेक्षक तथा अराजकीय परीक्षा केंद्र पर 2-2 राजपत्रित अधिकारियों को पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया है। इस प्रकार जिले में कुल 86 पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए हैं। सभी परीक्षा केंद्रों पर 1 हजार 760 राजकीय अध्यापकों को ही वीक्षक (इन्विजिलेटर) नियुक्त किया गया हैं।

सभी केंद्रों पर होगी वीडियोग्राफी
समस्त परीक्षा केंद्रों पर वीडियोग्राफी करने के लिए प्रत्येक केंद्र वार दो-दो वीडियोग्राफर नियुक्त किए गए हैं। जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद ने बताया कि परीक्षार्थियों की सुविधा के लिए राजस्थान पथ परिवहन निगम द्वारा साधारण एवं द्रुतगामी बसों में निःशुल्क परिवहन की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। इसके साथ ही अतिरिक्त बसों का संचालन एवं अतिरिक्त स्टाफ की नियुक्ति की गई है। परीक्षार्थियों के लिए रियायती दरों पर धर्मशालाओं, सामुदायिक भवनों, अम्बेडकर भवन आदि में ठहरने की सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाएगी। रैन बसेरों में निःशुल्क तथा होटलों में उचित दरों में ठहरने की व्यवस्था उपलब्ध करवाने की कार्यवाही की जा रही है।

गहन जांच के बाद गर्म कपड़े, जूते पहनने की अनुमति-मफलर, टोपी अनुमत नहीं

जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद ने बताया कि शीत ऋतु के प्रकोप को देखते हुए परीक्षार्थियों को केन्द्र पर नियुक्त कार्मिकों द्वारा गहनता से चौकिंग के उपरान्त गर्म कपड़े व जूतों को पहनने की अनुमति प्रदान की गई है। परीक्षा केन्द्रों पर सघन फ्रिस्किंग की व्यवस्था की गई। लेकिन टोपी, मफलर , इत्यादि नहीं पहने जा सकेंगे।
जिला कलेक्टर ने बताया कि परीक्षा केन्द्रों पर केन्द्राधीक्षक को कीपैड मोबाईल की अनुमति प्रदान की गई है। इसके अतिरिक्त केन्द्राधीक्षक सहित केन्द्र में प्रविष्ट होने वाले किसी भी व्यक्ति को मोबाईल रखने की अनुमति नहीं रहेगी।

नियंत्रण कक्ष स्थापित
जिला कलेक्टर ने बताया कि संपूर्ण परीक्षा की निगरानी और समन्वय के लिए कलेक्टर कार्यालय के कमरा नं. 13 में परीक्षा नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है। यह नियंत्रण कक्ष 5 से 7 जनवरी को परीक्षा समाप्ति तक कार्यरत रहेगा।
परीक्षा कंट्रोल रूम के दूरभाष नंबर
015 1-2226031 होंगे।

जिला कलेक्टर ने समस्त सम्बंधित एंजेसियों से एसओपी और नियमों की अनुपालना करने के निर्देश दिए। उन्होंने अभ्यार्थियों से परीक्षा केन्द्र पर निर्धारित समय 11 बजे से पूर्व पहुंचने की अपील की।

यह लाना होगा परीक्षार्थियों को साथ
परीक्षार्थियों को अपने साथ आयोग द्वारा जारी प्रवेश पत्र, मूल आईडी, पासपोर्ट साईज रंगीन फोटो एवं पारदर्शी बॉलपेन लाना अनिवार्य होगा।
_____

 

थार एक्सप्रेस
CHHAJER GRAPHIS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *