ऑस्ट्रेलिया 8वीं बार वर्ल्ड कप के फाइनल में 19 नवंबर को भारत से मुकाबला

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

साउथ अफ्रीका फिर चोकर्स साबित
कोलकात्ता , 16 नवम्बर।
ऑस्ट्रेलिया ने कोलकाता के ईडन गार्डन्स ग्राउंड पर खेले गए दूसरे सेमीफाइनल में साउथ अफ्रीका को 3 विकेट से हरा दिया। ऑस्ट्रेलिया की टीम 8वीं बार इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची है। वहीं, साउथ अफ्रीका एक बार फिर बड़े टूर्नामेंट में चोकर्स टीम साबित हुई। यह पांचवां मौका है, जब अफ्रीकी टीम वनडे वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में हारी है।
साउथ अफ्रीका ने गुरुवार को हुए इस मुकाबले में टॉस जीतकर पहले बैटिंग करने का फैसला किया। टीम 49.4 ओवर में 212 रन बनाकर ऑलआउट हो गई। डेविड मिलर ने सबसे ज्यादा 101 रन बनाए। मिचेल स्टार्क और पैट कमिंस ने 3-3 विकेट लिए। जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने 47.2 ओवर में 7 विकेट खोकर टारगेट हासिल कर लिया। ओपनर ट्रेविस हेड ने 48 बॉल पर 62 रन की आक्रामक पारी खेली। बीच में स्टीव स्मिथ ने 30 और जोश इंग्लिस ने 28 रन बनाए।

L.C.Baid Childrens Hospiatl

अब रविवार को अहमदाबाद में होने वाले फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलियाई टीम का सामना भारत से होगा। भारत ने बुधवार को खेले गए पहले सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड को हराया था।
साउथ अफ्रीका-ऑस्ट्रेलिया मैच का स्कोरकार्ड

5वीं बार वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में हारी साउथ अफ्रीका
साउथ अफ्रीका की टीम लगातार 5वें सेमीफाइनल से हारकर बाहर हुई है। इससे पहले, टीम 1992, 1999, 2007 और 2015 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल से हारकर बाहर हो चुकी है। अफ्रीकी टीम अब तक 5 बार वर्ल्ड कप के टॉप-4 में पहुंच चुकी है।

पिछले 27 साल से वर्ल्ड कप का फाइनल नहीं हारे कंगारू

ऑस्ट्रेलियाई टीम 8वीं बार वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची है। टीम ने 7 में से 5 फाइनल जीते हैं। ऑस्ट्रेलियाई टीम पिछले 27 साल से वर्ल्ड कप के फाइनल में नहीं हारी है। टीम ने पिछले 24 साल में अपने सभी 4 फाइनल जीते हैं। टीम ने आखिरी बार फाइनल मुकाबला 1996 में श्रीलंका के खिलाफ लाहौर में 7 विकेट से गंवाया था।

mona industries bikaner


पावरप्ले में कंगारुओं की तेज शुरुआत, मार्करम-रबाडा ने दि
ए झटके
पावरप्ले के पहले 6 ओवर में ऑस्ट्रेलिया ने शानदार शुरुआत की। ट्रैविस हेड और डेविड वॉर्नर ने 6 ओवर में 60 रन बना लिए। छठे ओवर में रबाडा ने 21 रन दिए।
7वें ओवर में कप्तान टेम्बा बावुमा ने बदलाव किया और ऐडन मार्करम ने वॉर्नर का विकेट दिलाया। यहां से साउथ अफ्रीका का कमबैक हुआ और 8वें ओवर में मिचेल मार्श भी आउट हो गए। आखिरी 4 ओवरमें ऑस्ट्रेलिया 14 रन ही बना सका और साउथ अफ्रीका को 2 विकेट हासिल हुए।

यहां से साउथ अफ्रीका की पारी


साउथ अफ्रीका 212 रन पर आउट, मिलर का शतक

अफ्रीकी टीम टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 49.4 ओवर में 212 रन पर ऑलआउट हो गई।
डेविड मिलर ने 101 रन की शतकीय पारी खेली। उन्होंने दूसरा वर्ल्ड कप शतक जमाया। मिलर ने छक्के के साथ सेंचुरी पूरी की। वे वर्ल्ड कप के नॉकआउट में सेंचुरी जमाने वाले पहले साउथ अफ्रीकी बल्लेबाज बन गए हैं।
इससे पहले, फॉफ डु प्लेसिस ने 2015 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ ऑकलैंड में 82 रन बनाए थे। मिलर के अलावा, हेनरिक क्लासन 47 रन बनाकर आउट हुए। मिचेल स्टार्क ने 3 विकेट चटकाए। जोश हेजलवुड, पैट कमिंस और ट्रैविस हेड को 2-2 विकेट मिले।


डेथ ओवर्स में आया मिलर का शतक

डेथ ओवर्स में साउथ अफ्रीकी टीम बड़ा स्कोर बनाने में असफल रही। हालांकि इन ओवर्स में डेविड मिलर ने अपना शतक पूरा किया। डेथ ओवर्स के दौरान साउथ अफ्रीका की ओर से डेविड मिलर क्रीज पर थे। टीम ने हर ओवर में बाउंड्री निकालने की कोशिश की। मिलर ने बड़े शॉट खेले और शतक पूरा किया।

ऑस्ट्रेलिया ने इस दौरान शानदार गेंदबाजी की। बॉलर्स ने बाउंड्री लगने पर प्रेशर नहीं लिया और सटीक गेंदबाजी की। 44वें, 47वें और 48वें ओवर में टीम ने विकेट लिए और मोमेंटम बनने ही नहीं दिया। डेथ ओवर्स में ऑस्ट्रेलियाई बॉलर्स ने 4 विकेट निकाल कर साउथ अफ्रीका को ऑलआउट कर दिया।

क्लासन-मिलर ने अफ्रीका को संभाला, हेड ने फिर दबाव बनाया
मिडिल ओवर्स के शुरुआत में साउथ अफ्रीकी बल्लेबाज दबाव में दिखे। 12वें ओवर में 24 रन पर चौथा विकेट गंवाने के बाद हेनरिक क्लासन और डेविड मिलर ने पारी को आगे बढ़ाया। दोनों ने 31वें ओवर तक बल्लेबाजी की। इस बीच क्लासेन और मिलर की जोड़ी ने 95 रन की साझेदारी करके अफ्रीकी पारी को आगे बढ़ाया।

अफ्रीकी टीम दबाव से उबर ही रही थी कि 31वां ओवर लेकर आए टेविस हेड ने लगातार दो विकेट लेकर फिर दबाव बना दिया। उन्होंने क्लासन को आउट करके 95 रन की साझेदारी तोड़ी और फिर मार्को यानसन को जीरो पर पवेलियन की राह दिखाई।

ऐसे में मिलर ने रन बनाने का जिम्मा संभाला और वनडे करियर की 25वीं फिफ्टी पूरी की। बीच के 30 ओवर में साउथ अफ्रीका ने 4 विकेट खोकर 101 रन बनाए। 40 ओवर के बाद अफ्रीकी टीम का स्कोर 156/6 रहा।

खराब रही साउथ अफ्रीका की शुरुआत, बावुमा जीरो पर आउट
टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी साउथ अफ्रीकी टीम की शुरुआत खराब रही। टीम ने एक रन के स्कोर पर कप्तान टेम्बा बावुमा का विकेट गंवाया। उन्हें मिचेल स्टार्क ने पहले ही ओवर में आउट किया। बावुमा खाता भी नहीं खोल सके।

10 रन के अंदर ही अफ्रीकी टीम ने दूसरे ओपनर क्विंटन डी कॉक (3 रन) का भी विकेट गंवा दिया। डी कॉक को जोश हेजलवुड ने आउट किया। शुरुआत के 10 ओवर में साउथ अफ्रीका ने 18 रन बनाने में दो विकेट गंवाए। यहां टीम का स्कोर 18/2 रहा।

तबरेज शम्सी को मौका; ऑस्ट्रेलिया में 2 बदलाव
अफ्रीकी टीम में एक बदलाव हुआ, जबकि कंगारू टीम 2 चेंज के साथ इस मैच में उतरी। टेम्बा बावुमा ने लुंगी एनगिडी की जगह तबरेज शम्सी को मौका दिया। वहीं, पैट कमिंस ने मार्कस स्टोयनिस और शॉट एबट को डगआउट में बैठाने का फैसला लिया, जबकि ग्लेन मैक्सवेल और मिचेल स्टार्क को मौका दिया।

दोनों टीमों की प्लेइंग 11
ऑस्ट्रेलिया: पैट कमिंस (कप्तान), डेविड वॉर्नर, ट्रैविस हेड, मिचेल मार्श, स्टीव स्मिथ, मार्नस लाबुशेन, जोश इंग्लिस (विकेटकीपर), ग्लेन मैक्सवेल, मिचेल स्टार्क, एडम जम्पा और जोश हेजलवुड।

साउथ अफ्रीका
: टेम्बा बावुमा (कप्तान), क्विंटन डी कॉक, रासी वान डर डसन, ऐडन मार्करम, हेनरिक क्लासन, डेविड मिलर, मार्को यानसन, केशव महाराज, कगिसो रबाडा, तबरेज शम्सी और जेराल्ड कूट्जी।

थार एक्सप्रेस
CHHAJER GRAPHIS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *