राजस्थान व बीकानेर के11 सरकारी समाचार

stba

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

  • 972.80 करोड़ रूपये की लागत से प्रदेश में 687 किलोमीटर सड़कों का होगा विकास
  • लगभग 385 करोड़ की लागत से 7 आरओबी/आरयूबी/फ्लाईओवर बनेंगे
  • राजस्थान सड़क नेटवर्क के मामले में देश का अग्रणी राज्य बनेगा— उप मुख्यमंत्री, दिया कुमारी

जयपुर, 14 मार्च। केन्द्र सरकार ने प्रदेश में 31 सड़क परियोजनाओं के सुदृढ़ीकरण एवं चौड़ाईकरण के लिए 972.80 करोड़ तथा 4 आरओबी, 1 आरयूबी तथा 2 फ्लाईओवर निर्माण के लिए 384.56 करोड़ रूपये की स्वीकृति प्रदान की है।
उप मुख्यमंत्री दिया कुमारी ने इस स्वीकृति के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी एवं केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री श्री नितिन गड़करी का आभार व्यक्त किया है। उन्होंने बताया कि हमने केन्द्र सरकार को इस संबंध में प्रस्ताव भिजवाये थे जिसे तत्काल ही मंजूर करते हुए यह स्वीकृतियां जारी की गई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश कि डबल इंजन सरकार मुख्यमंत्री श्री भजनलाल शर्मा के नेतृत्व में विकसित राजस्थान के लक्ष्य को पूरा करने के लिए तेजी से आगे बढ़ रही है। केन्द्र सरकार के सहयोग से राजस्थान में विश्व स्तरीय सड़क नेटवर्क का विकास करवाया जा रहा है। इस स्वीकृति से प्रदेश की कई महत्वपूर्ण सड़कों का चौड़ाईकरण एवं सुदृढ़ीकरण होगा। जिससे आवागमन त्वरित होगा और प्रदेश के आर्थिक, सामाजिक और औद्योगिक विकास के नये आयाम स्थापित होंगे। इसके साथ ही आरओबी, आरयूबी एवं फ्लाईओवर के विकास से लोगों को जाम से निजात मिलेंगी और समय की बचत होगी।
इन महत्वपूर्ण परियोजनाओं का होगा विकास
इस स्वीकृति से प्रदेश के 31 स्टेट हाई—वे, एमडीआर तथा धार्मिक श्रेणी की सड़कों की 687.47 किलोमीटर लंबाई का सुदृढ़ीकरण एवं चौड़ाईकरण किया जाएगा। इसके तहत अजमेर लोकसभा क्षेत्र में 45 करोड़ की लागत से 35.20 किलोमीटर की दो सड़कों, अजमेर तथा जयपुर ग्रामीण लोकसभा क्षेत्र में 90 करोड़ की लागत से 40 किलोमीटर की सड़क, अलवर—भरतपुर में 20 करोड़ की लागत से 20 किलोमीटर, भीलवाड़ा में 28.05 करोड़ की लागत से 18.70 किलोमीटर, बांसवाड़ा और डूंगरपुर में 32 करोड़ की लागत से 21 किलोमीटर, बीकानेर में 24 करोड़ की लागत से 16 किलोमीटर, चूरू में 20.18 करोड़ की लागत से 13 किलोमीटर, चित्तोड़गढ़ में 110 करोड़ की लागत से 69.90 किलोमीटर, धौलपुर—करौली में 16.67 करोड़ की लागत से 12 किलोमीटर, दौसा में 15 करोड़ की लागत से 15.50, जैसलमेर—बाड़मेर में 15 करोड़ की लागत से 29 किलोमीटर, जयपुर ग्रामीण में 40 करोड़ की लागत से 25 किलोमीटर, झुंझुनूं में 72.72 करोड़ की लागत से 60 किलोमीटर, जोधपुर में 31.21 करोड़ की लागत से 23 किलोमीटर, जालौर—सिरोही में 18.50 करोड़ की लागत से 13.50 किलोमीटर, कोटा में 15 करोड़ की लागत से 13.50 किलोमीटर, नागौर में 91.30 करोड़ की लागत से 83 किलोमीटर, पाली में 18.50 करोड़ की लागत से 10.50 किलोमीटर, राजसमंद में 19.60 करोड़ की लागत से 14 किलोमीटर, सीकर में 51.40 करोड़ की लागत से 38.50 किलोमीटर, टोंक—सवाई माधोपुर में 36 करोड़ की लागत से 18.07 किलोमीटर, उदयपुर में 18.75 करोड़ की लागत से 14.50 किलोमीटर, झालावाड़—बारां में 64.73 करोड़ की लागत से 55 किलोमीटर तथा अजमेर—भीलवाड़ा में 79.19 करोड़ की लागत से 27.6 किलोमीटर सड़कों का चौड़ाईकरण एवं सुदृढ़ीकरण किया जाएगा।
जयपुर में एक आरओबी व आरयूबी व भरतपुर में 2 फ्लाईओवर बनेंगे

L.C.Baid Childrens Hospiatl

जयपुर में नाड़ी का फाटक पर 86.89 करोड़ की लागत से 4 लेन आरओबी में अण्डरपास, सीतावाली फाटक और बेनाड़ फाटक के बीच 14.37 करोड़ की लागत से आरयूबी का निर्माण करवाया जाएगा। इसी प्रकार भरतपुर में हीरादास चौराहा पर 79.01 करोड़ की लागत से तथा बिजलीघर चौराहा पर 54.73 करोड़ की लागत से फ्लाईओवर का निर्माण किया जाएगा। कोटा में रामगंजमण्डी—झालावाड़ रेलवे लाईन पर सुकेत पीपलिया रोड़ पर 46.54 करोड़ की लागत से आरयूबी बनाया जाएगा। बीकानेर में श्रीडूंगरगढ़ बीदासर रोड़ पर 44.32 करोड़ की लागत से तथा डीडवाना—कुचामन में जयपुर कुचामन खाटू, तरनाव नागौर रोड़ पर 58.70 करोड़ की लागत से रेलवे आॅवर ब्रिज निर्मित करवाएं जाएंगे।

mona industries bikaner

——————
शहर में साफ-सफाई व्यवस्थाओं की समीक्षा के लिए निगम आयुक्त ने ली बैठक

कहा नियमित रूप से होगी सफाई कार्य की मानिटरिग

बीकानेर,14 मार्च। शहर में साफ-सफाई व्यवस्थाओं की समीक्षा के लिए नगर निगम आयुक्त अशोक कुमार आसीजा ने गुरुवार को सफाई निरीक्षकों व अन्य संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक ली।
बैठक के दौरान शहर में रात्रि सफाई व्यवस्था, मुख्य मार्गो व बाजारों एवं पर्यटन स्थलों की सफाई सहित विभिन्न विषयों पर बिन्दुवार रिपोर्ट ली गई। उन्होंने नियमित रूप से सफाई रखने व निरीक्षकों को समुचित मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए। निगम आयुक्त ने स्वास्थ्य अधिकारी को एम.आर.एफ सेन्टर का कार्य यथाशीघ्र पूर्ण करने एवं लिगेसी वेस्ट के कार्यों में भी प्रगति लाने कहा । उन्होंने कहा कि निगम एवं अनुबन्धित समस्त संसाधनों का सफाई व्यवस्था में पूर्ण उपयोग सुनिश्चित‌ हों। शहर में सफाई व्यवस्थाएं चाक चौबंद करने के लिए नियमित रूप से उच्च अधिकारियों द्वारा औचक निरीक्षण किये जाएंगे।
बैठक में बताया गया कि शहर के 80 वार्डों में नियमित रूप से सफाई कार्य सम्पादित किया जा रहा है। प्रत्येक वार्ड में औसतन 15 सफाई कर्मचारी कार्यरत हैं। सफाई व्यवस्था के अन्तर्गत रात्रि कालीन सफाई सांय 8 से 12 बजे तक 30 अस्थाई सफाई कार्मिकों से सफाई करवाई जा रही है। इस दौरान में अधिशाषी अभियंता गैराज गोपाल मूंड, स्वास्थ्य अधिकारी संदीप बिश्नोई व समस्त स्वच्छता निरीक्षक बैठक में मौजूद रहे।
———-

शुक्रवार को आएंगे जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री, संभाग स्तर की विभागीय समीक्षा बैठक लेंगे

बीकानेर, 14 मार्च। जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी एवं भू-जल विभाग मंत्री श्री कन्हैयालाल शुक्रवार प्रातः 11.30 बजे बीकानेर पहुंचेंगे और कलक्ट्रेट सभागार में संभाग स्तर की विभागीय समीक्षा बैठक लेंगे तथा दोपहर 2 बजे जयपुर के लिए प्रस्थान करेंगे।
——–

गंगाशहर राजकीय सैटेलाइट अस्पताल में प्रसूति विभाग और विस्तारित एवं नवीनीकृत दवा केन्द्र का लोकार्पण

वीडियो कांफ्रेंस से जुड़े केन्द्रीय विधि और न्याय मंत्री मेघवाल

विधायक सुश्री सिद्धि कुमारी ने फीता काट शहरवासियों को किया समर्पित

बीकानेर, 14 मार्च। गंगाशहर राजकीय सैटेलाइट अस्पताल में सांसद और विधायक कोष के सहयोग से तैयार प्रसूति विभाग और विस्तारित एवं नवीनीकृत दवा केन्द्र का लोकार्पण गुरुवार को हुआ।
केन्द्रीय विधि एवं न्याय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से कार्यक्रम से जुड़े। उन्होंने कहा कि सेठ शिवप्रताप पूनमचंद भट्टड़ परिवार द्वारा दशकों पूर्व बनाया गया यह अस्पताल गंगाशहर-भीनासर और आसपास के क्षेत्र के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवा रहा है। इसमें प्रसूति विभाग बनने से यह सेवाएं और अधिक सुदृढ़ होंगी। उन्होंने कहा कि वे प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री के साथ जल्दी ही अस्पताल का दौरा करेंगे और यहां सभी आवश्यक सुविधाएं और संसाधन मुहैया करवाने के प्रयास होंगे।

बीकानेर (पूर्व) विधानसभा क्षेत्र विधायक सुश्री सिद्धि कुमारी ने कहा कि सरकार और स्थानीय भामाशाहों के प्रयासों से अस्पताल की आधारभूत सुविधाओं में इजाफा हुआ है। उन्होंने कहा कि चिकित्सक और नर्सिंग कर्मी से लेकर सफाईकर्मी तक अस्पताल के सभी कार्मिक पूर्ण समर्पण के साथ कार्य करें। इनके द्वारा अस्पताल हित के लिए जितनी समर्पण भावना के साथ कार्य किया जाएगा, गंगाशहर के लोगों का उतना ही स्नेह इन्हें मिलेगा। इस दौरान उन्होंने आगामी वित्तीय वर्ष में गंगाशहर और उदयरामसर अस्पताल के लिए बीस-बीस लाख रुपये विधायक निधि से उपलब्ध करवाने की घोषणा की।
सरदार पटेल मेडिकल काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. गुंजन सोनी ने कहा कि गत समय में पीबीएम, जिला अस्पताल और गंगाशहर सैटेलाइट की व्यवस्थाओं में आमूलचूल सुधार हुआ है। गंगाशहर अस्पताल में गाइनी, चेस्ट, ईएनटी, मानसिक और नेत्र रोग की सेवाएं प्रारम्भ की गई हैं। उन्होंने कहा कि उनका प्रयास रहेगा कि जिला अस्पताल की तर्ज पर सप्ताह में एक दिन गंगाशहर अस्पताल को भी अपनी सेवाएं दें। उन्होंने केन्द्रीय मंत्री और विधायक से आग्रह किया कि पीबीएम अस्पताल में हार्ट सर्जन की सेवाएं उपलब्ध करवाई जाए, जिससे वहां कार्डिक बाईपास की सुविधा प्रारम्भ की जा सके।
समाजसेवी मोहन सुराणा ने बताया कि अस्पताल में प्रसूति विभाग के निर्माण के लिए केन्द्रीय मंत्री द्वारा सांसद निधि से 30 तथा विधायक द्वारा विधायक निधि से 20 लाख रुपये मुहैया करवाए गए। अस्पताल के लिए केन्द्रीय मंत्री द्वारा 25 लाख रुपये की लागत से आधुनिक संसाधन युक्त एम्बूलेंस भी उपलब्ध करवाई गई है। उन्होंने कहा कि अस्पताल में सुविधाओं के विस्तार के लिए सतत और सामूहिक प्रयास किए जा रहे हैं।
इस दौरान पूर्व महापौर नारायण चौपड़ा, डाॅ. सत्यप्रकाश आचार्य, विजय आचार्य और डाॅ. नवल गुप्ता ने भी विचार रखे। अस्पताल अधीक्षक डाॅ. मुकेश वाल्मिकी ने आगंतुकों का आभार जताया। डाॅ. खुशबू जोशी, नरेश नायक, श्रीमती सुमन छाजेड़, चम्पालाल चौपड़ा अतिथि के रूप में मौजूद रहे।

इससे पहले अतिथियों ने प्रसूति विभाग और दवा केन्द्र के नवीनीकरण कार्य का लोकार्पण किया। कार्यक्रम में गंगाशहर नागरिक परिषद के पदाधिकारी वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से कलकता से भी जुड़े।

इस दौरान जेठमल नाहटा, मुल्तान बैद, संपत दुग्गड, महेंद्र चौपड़ा, मेघराज बोथरा, शिव कुमार रंगा, बच्छराज नाहटा, मोहन मोदी, निर्मल चावरिया, शिव लाल तेजी, मूलचंद दैया, भगत गहलोत, सुधा आचार्य, शिखर चंद बैद, अरुण जैन, जतन लाल सेठिया सहित गंगाशहर-भीनासर क्षेत्र के गणमान्य नागरिक बड़ी संख्या में मौजूद रहे।


रम्मतों और फाग उत्सवों के दौरान रहे साफ सफाई और अतिरिक्त प्रकाश व्यवस्था
विधायक श्री व्यास ने नगर निगम आयुक्त को लिखा पत्र
बीकानेर, 14 मार्च। बीकानेर (पश्चिम) विधायक श्री जेठानंद व्यास ने होली के दौरान शहरी परकोटे में होने वाले रम्मतों, फागणिया फुटबॉल तथा हर्षों-व्यासों के डोलची खेल सहित विभिन्न मंदिरों में होने वाले फाग उत्सवों के दौरान साफ-सफाई तथा अतिरिक्त प्रकाश व्यवस्था करने के लिए नगर निगम आयुक्त को पत्र प्रेषित किया है।
विधायक ने बताया कि होलाष्टक की शुरुआत के साथ शहरी क्षेत्र में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित होंगे। इनमें थंब पूजन, रम्मतें, चंग और फाग महोत्सव जैसे आयोजन शामिल हैं। इनके अलावा हर्ष और व्यास जाति का परंपरागत डोलची मार खेल और फागनिया फुटबाल भी आयोजित होगा। उन्होंने बताया कि इनमें बीकानेर शहर के अलावा और देशभर के विभिन्न शहरों में रहने वाले प्रवासी लोगों की भागीदारी भी रहेगी। इसके मध्यनजर उन्होंने शहरी क्षेत्र की सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान देने के लिए कहा है। साथ ही उन्होंने बीकानेर इलेक्ट्रिकल सप्लाई लिमिटेड के अधिकारियों को पत्र भेजते हुए रम्मतों के दौरान निर्बाध विद्युत आपूर्ति के लिए भी कहा है। विधायक ने कहा कि बीकानेर की होली देशभर में विशेष पहचान रखती है। यहां के लोग यह त्योहार पूरे उत्साह और उमंग के साथ मना सकें, इसके मद्देनजर प्रशासन स्तर पर सभी व्यवस्थाएं प्रभावी रखी जाएं।
—–
लोकसभा चुनाव की तैयारियों के संबंध में बैठक शुक्रवार को
बीकानेर, 14 मार्च। लोकसभा चुनाव 2024 के मद्देनजर चुनाव संबंधित तैयारियों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा के लिए संभागीय आयुक्त श्रीमती वंदना सिंघवी की अध्यक्षता में शुक्रवार को दोपहर 2:30 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक आयोजित की जाएगी। यह जानकारी अतिरिक्त संभागीय आयुक्त ओ.पी. बिश्नोई ने दी।
—–
राजकीय विधि महाविद्यालय के विद्यार्थियों ने किया न्यायालयों का शैक्षणिक भ्रमण
न्यायिक प्रक्रियाओं की ली व्यावहारिक जानकारी
बीकानेर, 14 मार्च। राजकीय विधि महाविद्यालय के विद्यार्थियों ने न्यायिक कार्यवाहियों की व्यवहारिक जानकारी के लिए गुरुवार को विभिन्न न्यायालयों का शैक्षणिक भ्रमण किया।
महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ भगवाना राम बिश्नोई ने बताया कि सहायक आचार्य डॉ शिव शंकर व्यास, डॉ किशन लाल, डॉ पूजा छींपा एवं डॉ मल्लिका परवीन के नेतृत्व में विद्यार्थियों के अलग-अलग समूह बनाकर न्यायालयों का भ्रमण करवाया गया।
जिला एवं सैशन न्यायाधीश ने सेशन ट्रायल के बारे में विस्तार से समझाया। उन्होंने बताया कि कानून की पढ़ाई करते समय कार्यवाही से जुड़े उदाहरणों को भी पढ़ना चाहिए। इससे कानून एवं नियमों को सरलता से समझा जा सकेगा। उन्होंने विद्यार्थियों को आगे बढ़ने के लिए मेहनत करने हेतु प्रेरित किया। विद्यार्थियों ने अपर जिला एवं सेशन न्यायालय, अतिरिक्त मुख्य न्यायाधीश न्यायालय, पॉक्सो कोर्ट, फैमिली कोर्ट, ग्राम न्यायालय आदि में जाकर जमानत प्रार्थना पत्र, बहस, गवाहों के बयान, साक्ष्य रिकॉर्ड और दावा एवं प्रति दावा दाखिल करने जैसी महत्वपूर्ण न्यायिक प्रक्रियाओं के बारे में जाना। भ्रमण के दौरान विद्यार्थियों ने विभिन्न न्यायिक पीठासीन अधिकारियों से प्रश्न पूछ अपनी जिज्ञासाओं को भी शांत किया। विद्यार्थियों ने अधिवक्ताओं एवं न्यायिक कर्मचारियों से कार्य प्रणाली की जानकारी प्राप्त की।
एडवोकेट मनोज सुरोलिया द्वारा जिला एवं सैशन न्यायालय में कार्यरत विधिक सेवा प्राधिकरण की कार्यवाहियों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां दी गई।
महाविद्यालय की सहायक आचार्य डॉ रितु चौधरी ने पीठासीन अधिकारियों तथा बीकानेर बार के अधिवक्ताओं का न्यायालय भ्रमण एवं विद्यार्थियों के मार्गदर्शन के लिए आभार व्यक्त किया।
—–
जिला बाल संरक्षण इकाई की बैठक 19 मार्च को
बीकानेर,14 मार्च। समेकित बाल संरक्षण योजना (आई.सी.पी.एस.) एवं किशोर न्याय (देखभाल एवं संरक्षण) अधिनियम, 2000 के तहत जिला बाल संरक्षण इकाई एवं बाल विवाह रोकथाम के लिए गठित समिति की बैठक जिला कलेक्टर नम्रता वृष्णि की अध्यक्षता में 19 मार्च को सायं 5 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित होगी।
बाल अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक अरुण सिंह शेखावत ने यह जानकारी दी।
—–
लूणकरणसर विधानसभा क्षेत्र में संवेदनशील मतदान केंद्रों का निरीक्षण करने पहुंची जिला निर्वाचन अधिकारी, पुलिस अधीक्षक गौतम भी साथ रहीं मौजूद
लूणकरणसर मुख्यालय पर की जनसुनवाई

बीकानेर, 14 मार्च। जिला निर्वाचन अधिकारी नम्रता वृष्णि ने गुरुवार को पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम के साथ लूणकरणसर क्षेत्र में संवेदनशील मतदान केंद्रों का निरीक्षण किया। जिला निर्वाचन अधिकारी ने विधानसभा के रोझा और सुरनाणा में संवेदनशील मतदान केंद्रों का अवलोकन करते हुए कहा कि निष्पक्ष, निर्भीक मतदान संपादित करवाने के लिए इन क्षेत्रों में मतदाताओं के साथ नियमित संवाद हों। क्षेत्र के पुलिस अधिकारियों के साथ अन्य अधिकारी यहां नियमित भ्रमण कर जानकारी लेते रहें। किसी भी प्रकार की अवांछित गतिविधि मिलने पर तुरंत प्रभाव से एक्शन लिया जाए। जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि प्रशासन मतदाताओं को भय मुक्त वातावरण उपलब्ध करवाने के लिए प्रतिबद्धता के साथ काम कर रहा है।

इन क्षेत्रों में प्रबुद्ध नागरिकों के साथ भी नियमित रूप से बातचीत की जाए। नकद, शराब या अन्य किसी भी प्रकार से प्रलोभन जैसी गतिविधि स्वीकार नहीं की जाएगी। पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम ने इन क्षेत्रों में बारीकी से निगरानी के निर्देश दिए। जिला निर्वाचन अधिकारी ने इस दौरान आम मतदाताओं से भी बातचीत की और भय मुक्त होकर मतदान करने के लिए प्रेरित किया।

ब्लाक मुख्यालय पर की जनसुनवाई
इससे पहले जिला कलेक्टर नम्रता वृष्णि ने लूणकरणसर उपखंड कार्यालय का निरीक्षण किया और कार्य व्यवस्थाओं की जानकारी ली।
जिला कलेक्टर वृष्णि ने आईटी सेंटर में जनसुनवाई कर आमजन के परिवाद भी सुने। जनसुनवाई में आसपास के क्षेत्रों से बड़ी संख्या में ग्रामीण पानी, बिजली, सड़क, शिक्षा स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं लेकर पहुंचे। जिला कलेक्टर ने संबंधित विभागीय अधिकारियों को प्रकरणों के संबंध में आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए।
जिला कलेक्टर ने कहा कि अधिकारी संजीदगी से आमजन के परिवाद सुनें और आवश्यक कार्रवाई करें। परिवादी की संतुष्टि अधिकारियों के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिए अतः प्रत्येक प्रकरण में समयबद्ध जवाब दिया जाए। इस अवसर पर संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।
—–
औद्योगिक क्षेत्रों में सुविधाओं के विकास के लिए गंभीरता और समन्वय से कार्य हों -जिला कलेक्टर
वाद निस्तारण समिति की बैठक आयोजित
बीकानेर,14 मार्च। जिला कलेक्टर नम्रता वृष्णि ने कहा कि रीको अपने औद्योगिक क्षेत्रों में सुविधाओं के विकास व विस्तार करने के लिए गंभीरता और समन्वय से कार्य करें। औद्योगिक संघों के विवाद एवं शिकायत निवारण तंत्र के तहत गठित जिला स्तरीय समिति की गुरुवार को जिला कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में जिला कलेक्टर ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि औद्योगिक क्षेत्रों में सुविधाओं का विकास होने से ही नई इंडस्ट्री लगाने को प्रोत्साहन मिलेगा और क्षेत्र का विकास हो सकेगा।इस दिशा में समन्वित और गंभीर प्रयास करने होंगे।
सिंगल यूज प्लास्टिक रोकथाम के लिए की गई कार्रवाई की समीक्षा करते हुए जिला कलेक्टर नम्रता वृष्णि ने कहा कि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड निगम के साथ गहन अभियान चलाकर जब्ती की कार्रवाई जारी रखें। साथ ही जब्त सिंगल यूज प्लास्टिक का भी निस्तारण हो इसके लिए भी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड आवश्यक कार्रवाई करें।
रीको द्वारा पर्यटन को उद्योग नहीं मानने की शिकायत पर जिला कलेक्टर ने रीको के क्षेत्रीय प्रबंधक को इस संबंध में प्रस्ताव राज्य सरकार के स्तर पर विभाग को भिजवाने के निर्देश दिए। बैठक में करणी औद्योगिक क्षेत्र में सीईटीपी निर्माण के संबंध में चर्चा करते हुए कहा कि जिला कलेक्टर ने कहा कि इस औद्योगिक क्षेत्र में इकाइयों के सहयोग से रीको अपने सीएसआर से इसका निर्माण करने के संबंध में प्रस्ताव तैयार करें। जिला कलेक्टर ने कहा कि इस दिशा में शीघ्र ही सार्थक प्रयास किए जाएंगे।

आबकारी विभाग औद्योगिक क्षेत्रों में शराब की दुकान हटाने की शिकायत पर जिला कलेक्टर ने इसे हटाने के लिए आबकारी विभाग को अतिक्रमण कर खोली गई शराब की दुकान हटाने के निर्देश दिए। बैठक में जिला कलेक्टर ने कोटगेट व सट्टा बाजार क्षेत्र में खुले नालों को कवर करवाने, नालों की साफ-सफाई व मरम्मत, कचरे का नियमित उठाव, सार्वजनिक प्रकाश व्यवस्था दुरुस्त करवाने, करणी औद्योगिक क्षेत्र में पेयजल व्यवस्था, बीछवाल औद्योगिक क्षेत्र में ट्रांसफार्मर के नीचे घास कटाई आदि बिन्दुओं पर की गई कार्रवाई की समीक्षा कर बकाया कार्य शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए।
बैठक में प्रशिक्षु आईएएस यक्ष चौधरी‌‌, जिला उद्योग केन्द्र महाप्रबंधक मंजू नैण गोदारा, रीको के डी जी एम एस के गर्ग सहित जिला उद्योग संघ बीकानेर के अध्यक्ष डी पी पच्चिसिया, महेश कोठारी, कन्हैयालाल बोथरा, वीरेंद्र किराडू, कमल बोथरा, हर्ष कंसल, सुभाषचंद मित्तल, प्रकाश नवहाल, किशनलाल, वेदप्रकाश अग्रवाल, पुखराज गोदारा सहित अन्य उद्योग प्रतिनिधि उपस्थित रहे।
औद्योगिक संघ प्रतिनिधियों ने किया जिला कलेक्टर का अभिनंदन इससे पहले विभिन्न उद्योग संघ प्रतिनिधियों द्वारा जिला कलेक्टर नम्रता वृष्णि का बुके भेंट कर अभिनंदन किया गया।
—–
जल विज्ञान एवं जल प्रबंधन संस्थान का तीन दिवसीय प्रशिक्षण का समापन
बीकानेर,14 मार्च। जल विज्ञान एवं जल प्रबंधन संस्थान द्वारा तीन दिवसीय प्रशिक्षण का समापन सत्र गुरुवार को आयोजित हुआ। प्रशिक्षण में जल उपयोक्ता संगम के अध्यक्ष एवं सदस्यों ने भाग लिया।
समापन सत्र में मुख्य अतिथि संयुक्त निदेशक वीरेन्द्र सिंह राठौड़ रहे।
प्रशिक्षण के समन्वयक उपनिदेशक (कृषि) जयदीप दोगने ने सहभागी सिंचाई प्रबंधन से संबंधित एक्ट एवं नियमों के बारे में बताया। उन्होंने सहभागी सिंचाई प्रबंधन के तहत कृषक संगठनों के प्रारूप प्रबंध समिति,वितरण समिति एवं परियोजना समिति के कार्यों, बैठक की प्रक्रिया, वित्तीय अंकेक्षण तथा सामाजिक ऑडिट कृषक संगठन के उद्देश्य, कर्तव्य एवं दायित्व के बारे में जानकारी दी।  प्रशिक्षण में उपनिदेशक (ज.स.) दिनेश सिंह सोलंकी ने जल प्रबंधन समिति की चुनाव प्रक्रिया, कार्यों एवं संधारित रिकॉर्ड आदि के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में रतनलाल, राजेन्द्र कुमार एवं इन्द्रजीत द्वारा जल उपयोक्ता संगम के संचालन में आ रही व्यवहारिक समस्याओं के बारे में अवगत करवाया। दिनेश सिंह सोलकी ने जल उपयोक्ता संगम के संचालन से संबंधित समस्याओं के समाधान के बारे में जानकारी सांझा की। डॉ नवरतन पंवार एवं डॉ नारायण सिंह नाथावत ने कृषि में जल के समुचित उपयोग हेतु विस्तृत जानकारी प्रदान की। अध्यक्ष एवं सदस्यों को क्षेत्र भ्रमण के लिए केन्द्रीय शुष्क बागवानी संस्थान, केन्द्रीय शुष्क क्षेत्र अनुसंधान केन्द्र का भ्रमण करवाया गया। कार्यक्रम में प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण पत्र एवं स्मृति चिन्ह दिए गए।


 

shree jain P.G.Collegeथार एक्सप्रेसCHHAJER GRAPHIS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *