बीकानेर के सरकारी समाचार

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

बीमा पॉलिसी मिलने से समुचित लाभ समयबद्ध रूप से प्राप्त कर सकेंगे किसान-गोदारा
29 फरवरी तक चलेगा मेरी पॉलिसी मेरे हाथ कार्यक्रम, ला स्तरीय कार्यक्रम बम्बलू ग्राम पंचायत में आयोजित
गोदारा ने कार्यक्रम के प्रचार-प्रसार और मॉनिटरिंग के दिए निर्देश
बीकानेर, 2 फरवरी। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री सुमित गोदारा ने कहा कि किसानों के आर्थिक सशक्तीकरण के लिए राज्य सरकार केंद्र सरकार की योजनाओं का पूरा लाभ पात्र किसानों तक पहुंचाने के लिए प्रतिबद्ध है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत ’मेरी पॉलिसी मेरे हाथ’ के बम्बलू में शुक्रवार को आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में गोदारा ने यह बात कही। कार्यक्रम में उपस्थित प्रगतिशील किसानों को संबोधित करते हुए श्री गोदारा ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का उद्देश्य फलीभूत करने के लिए क्रियान्वयन और मॉनिटरिंग पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इसी श्रृंखला में यह कार्यक्रम प्रारंभ किया गया है। बीमा पॉलिसी बीमित किसान के हाथ में पहुंचने से संबंधित किसान को पॉलिसी की विस्तृत जानकारी मिल सकेगी और आवश्यकता पड़ने पर वह समुचित मुआवजा समय पर प्राप्त कर सकेगा, यह सुनिश्चित करने की दिशा में कार्यक्रम अहम साबित होगा। गोदारा ने कहा कि कृषि विभाग के अधिकारी ग्राम पंचायत वार आयोजित होने वाले शिविरों के बारे में व्यापक प्रचार प्रसार करवाएं और इसकी समुचित मॉनिटरिंग करें।
खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री सुमित गोदारा ने मेरी पॉलिसी मेरे हाथ कार्यक्रम के बैनर का विमोचन किया तथा किसानों को पॉलिसी भी वितरित की। कार्यक्रम में लूनकरनसर प्रधान कानाराम गोदारा ने अधिक से अधिक किसानों को इस कार्यक्रम में शामिल होकर फसल बीमा पॉलिसी प्राप्त करने की अपील की। उन्होंने कहा कि इस अभियान का मुख्य उद्देश्य प्रतिकूल मौसम से किसानों के फसल खराबे से हुए नुकसान की समय पर भरपाई करवाना है।

L.C.Baid Childrens Hospiatl

29 फरवरी तक चलेगा अभियान
कृषि विभाग के संयुक्त निदेशक कैलाश चौधरी ने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अंतर्गत रबी 2023-24 में जिले में बैंकों द्वारा ऋणी किसानों का बीमा 31 दिसंबर 2023 तक किया गया तथा 15 जनवरी 2024 तक पॉलिसी का निर्माण किया गया। बैंकों द्वारा निर्मित पॉलिसियां बीमा कंपनी एआईसी द्वारा 29 फरवरी तक सभी पटवार मंडलों के ग्राम पंचायत भवन में कैम्प आयोजित कर कृषकों उनकी बीमा पॉलिसी सौंपी जाएगी। उन्होंने बताया कि ग्राम पंचायत वार आयोजित होने वाले शिविरों के संबंध में विस्तार से कार्यक्रम जारी किया जाएगा।
कार्यक्रम में कृषि विभागीय अधिकारी अमर सिंह गिल, भैराराम गोदारा, डॉ मानाराम जाखड़, रमेश चंद्र भाम्भू, महावीर गोदारा, लीड बैंक प्रभारी यदुनंदन शर्मा व कृषि एवं उद्यान विभाग के अधिकारियों के साथ बीमा कंपनी प्रतिनिधि व बड़ी संख्या में प्रगतिशील किसान उपस्थित रहे। कृषि अधिकारी मुकेश गहलोत पॉलिसी वितरण कार्यक्रम का संचालन किया।
———–

schoks manufacring

सरसों फसल में चैपा,माहू, काला तेला या एफिड का प्रकोप की संभावना के मद्देनजर कृषि विभागीय तकनीकी टीम ने सर्वेक्षण किया

बीकानेर, 2 फरवरी। सरसों फसल में चैंपा,माहु, एफिड के प्रकोप से रोकथाम के लिए कृषि विभाग की तकनीकी टीम द्वारा शुक्रवार को पम्पालसर, पेमासर एवं बम्बलू के ग्रामीण क्षेत्रों में सर्वेक्षण कार्य किया गया। किसानों को कीट व्याधि पहचान, सर्वे व रोकथाम के आवश्यक उपायों के बारे में जानकारी दी गई।
मौसम में उतार चढाव व कम तापमान, अधिक वातावरणीय नमी की अनुकूलता के कारण सरसों फसल में चैंपा,माहू,काला तेला (एफिड) के प्रकोप की सम्भावना के मद्देनजर कृषि विभाग द्वारा सर्वेक्षण के माध्यम से एफिड के रोकथाम के उपचार बताएं गए।
कृषि विभाग के संयुक्त निदेशक कैलाश चौधरी ने बताया कि फरवरी माह में सरसों में चैंपा के प्रकोप की सम्भावना अधिक रहती है। यह पीले-हरे रंग का कीट पौधे की पत्ती, फूल, तना एवं फलियों का रस चूसकर पौधे को कमजोर करता है। इस कीट का प्रसार तेजी से होने के कारण फलियां कम लगती है। दाने भी छोटे रह जाते हैं। उन्होंने बताया कि यह खेत के बाहरी पौधो पर पहले आता है। यह कीट सरसों तने की ऊपरी शाखा के 10 सेंटीमीटर में लगभग 25 चेंपा मिलने पर आर्थिक हानिस्तर श्रेणी में है। कृषि विभाग द्वारा जिलें में सरसों फसल पर चैंपा का प्रकोप कम पाया गया है।
कृषि अधिकारी मुकेश गहलोत ने बताया कि उपचार के लिए नीमयुक्त कीटनाशी छिड़काव करना प्रभावी साबित होता है। ईटीएल स्तर से अधिक आक्रमण होने पर किसानों द्वारा डाइमथोएट 30% ईसी या मिथायल डेमोटॉन 25%ईसी की एक एमएल प्रति लीटर पानी या एक लीटर दवा प्रति हैक्टेयर 400-500 लीटर पानी की मात्रा में घोल बनाकर छिड़काव कर नियंत्रण कर सकते हैं।
तकनीकी टीम में कृषि विभाग अधिकारी अमर सिंह गिल, भैराराम गोदारा व मुकेश गहलोत सहित स्थानीय कृषि अधिकारी रमेश भाम्भू व महावीर गोदारा शामिल रहे।
_____

केंद्र सरकार की योजनाओं में सैचुरेशन के लिए 6 से 29 फरवरी तक जिले में आयोजित होंगे फोलोअप शिविर
राजस्व अधिकारियों की बैठक आयोजित ,जिला कलेक्टर ने मिशन मोड में कार्य करने के दिए निर्देश

बीकानेर, 2 फरवरी। केंद्र सरकार की विभिन्न योजनाओं में लाभ से वंचित पात्र व्यक्तियों को जोड़ने के लिए 6 से 29 फरवरी तक फॉलोअप कैंप का आयोजन किया जाएगा।
जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित राजस्व अधिकारियों की बैठक में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पंचायत समिति वार प्रति दिन 7 शिविरों का आयोजन किया जाए।

जिला कलेक्टर ने विभागीय एवं उपखंड अधिकारियों को आयुष्मान भारत योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, पीएम किसान सम्मान निधि आदि में पात्रता रखने वाले चिन्हित लोगों से संपर्क कर शिविर की निर्धारित तिथि एवं आवेदन प्रकिया की जानकारी देने को कहा। उन्होंने इस कार्य में ग्राम विकास अधिकारी और विकास अधिकारियों का सहयोग लेने को कहा।

नियमित कोर्ट लें राजस्व अधिकारी
इस दौरान राजस्व के विभिन्न विषयों नामांतरकरण, खाता विभाजन, सीमांकन, अतिक्रमण आदि कार्यों की समीक्षा की गई और संबंधित प्रकरणों को निर्धारित समय सीमा में निस्तारण के निर्देश दिए गए। जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद ने कहा कि सभी उपखंड अधिकारी नियमित रूप से सप्ताह में पांचों दिन कोर्ट आयोजित करते हुए रिपोर्ट प्रेषित करेंगे । 10 साल से अधिक लंबित प्रकरणों को प्रतिदिन सुनें तथा 5 वर्ष से पुराने प्रकरणों की प्रति सप्ताह सुनवाई करें।

अनुपस्थित मिले कार्मिकों के विरुद्ध करें कार्रवाई
जिला कलेक्टर ने कहा कि सभी उपखंड अधिकारी अपने-अपने ब्लॉक में विभिन्न विभागों के औचक निरीक्षण करें और बिना पूर्व सूचना के अनुपस्थित पाए गए कार्मिकों के विरुद्ध कार्रवाई अमल में लाएं। अधीनस्थों को पूरी जिम्मेदारी और सक्रियता से काम करवाना उपखंड अधिकारियों की जिम्मेदारी है। उपखंड अधिकारी टीम गठित कर नियमित रूप से राशन की दुकानों, स्कूलों, आंगनबाड़ी केंद्रों, अस्पतालों, अंबेडकर भवनों, मिड डे मील के भंडारण और छात्रावासों आदि का निरीक्षण करवाएं। संबंधित अधिकारी नियमित रूप से अपने कार्यालय में जनसुनवाई भी करें तथा होने लायक कार्यों को उपखंड स्तर पर ही त्वरित गति से संवेदनशीलता के साथ करवाया जाए।सभी विभागीय अधिकारी फील्ड विजिट कर समस्त उपखंडों में अपने विभाग संबंधित कार्यों की प्रगति की समीक्षा करना भी सुनिश्चित करें।

डीआईक्यूई के तहत स्कूलों और निर्माण के तहत आंगनबाड़ी केंद्रों में लगाए गए स्मार्ट टीवी की उपयोगिता की जानकारी लेते हुए जिला कलेक्टर ने कहा कि इनकी उपयोगिता सुनिश्चित करें।
जिला कलेक्टर ने अवैध कृषि एवं घरेलू कनेक्शन लेने वालों के विरुद्ध भी कार्रवाई कर कनेक्शन काटने के निर्देश दिए। जलदाय विभाग जल जीवन मिशन के तहत लक्षय के अनुसार कनेक्शन कार्य प्राथमिकता से करवाए। पशुओं के लिए निःशुल्क दवा जल्द से जल्द समस्त पंचायत समिति पर उपलब्ध हो पशुपालन विभाग इसे सुनिश्चित करें।जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने उपखंड अधिकारियों को संबंधित क्षेत्र में कानून एवं व्यवस्था पर पूरी निगरानी रखने के निर्देश दिए।

इस दौरान सीईओ जिला परिषद सोहनलाल, प्रशिक्षु आईएएस यक्ष चौधरी, अतिरिक्त जिला कलेक्टर (प्रशासन) प्रतिभा देवठिया, एडीएम सिटी कपिल यादव, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अबरार पंवार सहित जिले के राजस्व और लाइन विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।
_____
साफ सफाई ,सड़क, पानी, बिजली के मुद्दों पर अतिरिक्त सतर्कता से काम करें – सिद्धि कुमारी
संबंधित अधिकारियों के साथ ली बैठक

बीकानेर ,02 फरवरी। विधायक ( बीकानेर पूर्व) सिद्धि कुमारी ने शुक्रवार को शहर में पानी, बिजली, सड़क, स्वास्थ्य और साफ-सफाई जैसे विभिन्न मुद्दों पर संबंधित अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक ली।
सिद्धि कुमारी ने अपने कार्यालय में विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ संबंधित विषयों पर चर्चा की । इस दौरान विधायक ने कहा कि साफ सफाई ,सड़क, पानी, बिजली जैसे मुद्दों पर किसी भी तरह के लापरवाही ना करें।उन्होंने कहा कि आमजन की समस्याओं का निस्तारण अधिकारियों की सर्वोच्च प्राथमिकता में शामिल होना चाहिए। सिद्धी कुमारी ने जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता राजेश पुरोहित को प्रगतिरत पेयजल प्रोजेक्ट के बारे में पूछा तथा कार्य में तेजी लाने को के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गुणवत्ता के स्तर पर मॉनिटरिंग करने के लिए संबद्ध अधिकारी मौके पर जाएं। सिद्धि कुमारी ने नगर निगम को सफाई व्यवस्था में सुधार लाने के लिए निर्देश दिए ।उन्होंने कहा कि सीवरेज खुले नालों की ढकने के लिए मिशन मोड पर निगम अन्य विभागों के साथ समन्वय कर काम करें। उन्होंने सूरसागर , जूनागढ़ के आस पास की सफाई ,यातायात जाम सहित अन्य अवस्थाओं के प्रति नाराजगी जताई। विधायक ने नगर विकास न्यास के अधिकारियों के साथ चर्चा कर शहर के पार्क डेवलप करने को कहा। इस अवसर पर नगर विकास न्यास के सहायक अभियंता अहसान अली,उस्मान अली कनिष्ठ अभियंता श्रवण चौधरी , राजेंद्र सारण व सुपरवाइजर रतनलाल, नगर निगम अधिक्षण अभियंता ललित ओझा, जलदाय विभाग के अधिशाषी अभियंता नरेश रेगर मौजूद रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *