बीकानेर कार्निवल में स्थानीय धुनों पर देशी विदेशी पर्यटकों को झूमने पर मजबूर किया

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

बीकानेर, 12 जनवरी। अंतराष्ट्रीय ऊंट उत्सव के तहत शुक्रवार को बीकानेर कार्निवल का आयोजन किया गया। कार्निवल की शुरूआत लक्ष्मी निवास पैलेस से हुई। संभागीय आयुक्त उर्मिला राजौरिया, आईजी ओमप्रकाश, जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल और पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम की गरिमामय उपस्थिति में कार्निवल रवाना हुआ।

L.C.Baid Childrens Hospiatl

उत्सव की शुरूआत “हेरिटेज वॉक” से की गई, जिसमें देशी-विदेशी सैलानी शामिल हुए। राजस्थानी कलाकारों ने वाद्य यंत्र बजाकर और नृत्य कर विदेशी मेहमानों को भी झूमने पर मजबूर कर दिया। दोपहर में बीएसएफ के जवानों ने अपने ऊंटों पर शौर्य का प्रदर्शन किया।

schoks manufacring

विदेशी सैलानियों को बीकानेर की गुलाबी सर्दी और धोरों की तरफ आकर्षित करने के लिए हर साल अंतरराष्ट्रीय ऊंट उत्सव का आयोजन किया जाता है। तीन दिवसीय इस उत्सव के पहले दिन “हेरिटेज वॉक” में देशी-विदेशी सैलानियों ने रामपुरिया हवेली एरिया में भ्रमण किया।

गुब्बारे उड़ाकर कार्यकम का शुभारंभ किया गया। कार्निवल में राधा-कृष्ण के रूप में सजे बच्चों एवं विंटेज कारों में बैठे देशी- विदेशी पर्यटक भी स्थानीय लोक धुन पर थिरकते नजर आए। छात्राओं ने पारंपरिक वेशभूषा में पारम्परिक नृत्य कर राजस्थान की बहुरंगी संस्कृति को साकार किया। इस दौरान झांकियों के साथ, स्थानीय कलाकारों ने घूमर, एनसीजेडसीसी प्रयागराज द्वारा कालबेलिया, पंजाब के दल द्वारा भंगड़ा, फाग घूमर, हरियाणा सहित अन्य नृत्यों ने पर्यटकों को नाचने पर मजबूर कर दिया। ऊंटों पर सवार रोबीले तथा ऊंट गाडों पर राजस्थानी लोक जीवन और बीकानेर की ग्रामीण संस्कृति साकार हुई।


हेरिटेज वॉक करते देशी-विदेशी सैलानी

कार्निवल में ऊंट सवारी रोबिले, राजस्थानी वेशभूषा में सजी-धजी स्कूल एवं कॉलेज छात्राएं, और कैमल कार्ट की विभिन्न झांकियों के साथ राजस्थानी वेशभूषा में विविध संस्कृतियों का प्रदर्शन किया गया। कार्निवल यहां से रवाना होकर करणी सिंह स्टेडियम से होते हुए तीर्थंभ सर्किल पर सम्पन्न हुआ। रास्ते में शहरवासियों ने पलक पावडे़ बिछाकर भी कार्निवल का अभिनंदन किया। पर्यटकों द्वारा इन लम्हों की तस्वीरें ली गई वहीं वे कलाकारों के साथ सेल्फी लेने में भी आमजन मशगूल दिखे।

नक्काशीदार हवेलियों के बीच हुई हेरिटेज वॉक
रामपुरिया हवेली से शुरू होकर शहर की ऐतिहासिक गलियों से होते हुए हेरिटेज वॉक का समापन बीकाजी की टेकरी परिसर पर किया गया। ऐतिहासिक नक्काशीदार हवेलियों के बीच से रंग-बिरंगे परिधानों में सजे कलाकारों के साथ पर्यटक भी बीकानेरी रंग में रंगे नजर आए।
बीकानेरी व्यंजनों की खुशबू से महका मार्ग
हेरिटेज वॉक का मार्ग स्थानीय व्यंजनों की खुशबू से सराबोर था। कहीं पान तो कहीं केसर दूध की मनुहार चल रही थी। इसी दौरान बीकानेर के बाजार में स्थानीय हैंडीक्राफ्ट उस्ता कला से भी सैलानियों का परिचय करवाया गया।
मेहमान नवाजी की परंपराओं से प्रफुल्लित दिखे पावणे हेरिटेज वॉक के दौरान स्थानीय नागरिकों ने जगह-जगह पर उत्सव में पधारे मेहमानों का पुष्पमाला पहनाकर एवं फूल बरसाकर स्वागत किया गया। बीकानेर कला संस्कृति की धुन पर झूमते विदेशी पर्यटक भी स्थानीय लोगों की आव भगत से बेहद भाव विभोर और प्रफुल्लित नजर आए।
सोशल मीडिया पर भी बिखरे ऊंट उत्सव के रंग
अंतर्राष्ट्रीय ऊंट उत्सव के पहले दिन सोशल मीडिया पर भी बीकानेर की संस्कृति की धूम रही। ट्विटर, इंस्टाग्राम, फेसबुक, यूट्यूब, ब्लॉग्स और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर उत्सव की रंग-बिरंगी झलकियां दिखीं। ब्लॉगर्स उत्सव का आनंद लेते हुए पर्यटकों , प्रशासनिक अधिकारियों और स्थानीय नागरिकों से बातचीत करते नजर आए। बीकाजी की टेकरी पर रंगोली, मेहंदी और अन्य प्रतियोगिताएं भी आयोजित की गई।
हेरिटेज वॉक में देसी- विदेशी सैलानियों के साथ नगर निगम आयुक्त केसर लाल मीणा, नगर विकास न्याय सचिव मुकेश बारहठ, उपखंड अधिकारी पवन कुमार, पर्यटन विभाग के उपनिदेशक अनिल सिंह राठौड़, सहायक निदेशक कृष्ण कुमार सहित बड़ी संख्या में स्थानीय लोग भी हेरिटेज वॉक में शामिल हुए।
इंटेक ने की भागीदारी
इंडियन नेशनल ट्रस्ट फॉर आर्ट्स एंड कल्चरल हेरिटेज (इंटेक) ने भी हेरिटेज वॉक में सहयोग किया। इंटेक के कन्वीनर पृथ्वीराज रतनू ने बताया कि बीकाजी जी की टेकरी में आयोजित रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियों में बीकानेर के रोबिलो और प्रमुख लोगों ने( इंटेक) के संदेश का प्रसारण किया।  इंटेक के अरुण प्रकाश गुप्ता, कोषाध्यक्ष सुनील बांठिया, सुधा आचार्य, दिनेश सक्सेना, मनमोहन कल्याणी, ने हेरिटेज वॉक में भाग लिया।

शनिवार को एनआरसीसी और करणी सिंह स्टेडियम में होंगे विभिन्न कार्यक्रम
ऊंट उत्सव के दूसरे दिन प्रातः 10 से दोपहर 3 बजे तक राष्ट्रीय उष्ट्र अनुसंधान केन्द्र में ऊंट नृत्य, ऊंट फर कटिंग, ऊंट सज्जा और ऊंट दौड़ प्रतियोगिताएं होंगी। वहीं दोपहर 4 से सात बजे तक डॉ. करणी सिंह स्टेडियम में मिस मरवण, मिस्टर बीकाणा, ढोला-मारू, सहित अन्य प्रतियोगिता के साथ बीकानेर फैशन शो का आयोजन होगा। सायं 7 बजे से डॉ. करणी सिंह स्टेडियम में फोक नाइट सन्स ऑफ सॉयल आयोजित होगी। इसमें राजस्थानी लोक कलाकारों सहित विभिन्न प्रदेशों के कलाकारों द्वारा प्रस्तुतियां दी जाएंगी।
_____

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *