डॉ. सर्वेश शर्मा की टीम ने की 6 मरीजों के सिंथेटिक ग्राफ्ट लगाकर पेरीफरल आरटीरियल डीज़ीज़ की विशेष सर्जरी

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

  • सफल ऑपरेशन्स के लिए प्राचार्य डॉ. सोनी ने चिकित्सकों की टीम को दी बधाई

बीकानेर ,15 फरवरी। सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज सी.टी.वी.एस. विभाग के सह आचार्य एवं विभागाध्यक्ष डॉ. सर्वेश शर्मा एवं उनकी टीम द्वारा कुछ दिन पूर्वं, पैरों से जुडी गंभीर बीमारी पेरीफरल आरटीरियल से ग्रसित कुल 6 मरीजों का सफल एवं निःशुल्क ऑपरेशन किये गये।

L.C.Baid Childrens Hospiatl

जब यह बांहों या पैरों में होता है, तो इसे परिधीय धमनी रोग (PAD) कहते हैं। पैर की किसी धमनी में आंशिक रुकावट से पैर में दर्द और ऐंठन हो सकती है। दर्द की स्थिति अवरुद्ध धमनी की स्थिति पर निर्भर होती है, और पिंडली का दर्द सबसे आम है।

schoks manufacring

डॉ. सर्वेश शर्मा ने बताया कि इस बीमारी में मरीज के पैरो की रक्त की धमनियों में रूकावट के कारण, रक्त का प्रवाह कम अथवा बंद हो जाता है। मरीजों के पैरो में असहनीय दर्द होता है, चलने में तकलीफ होती है। मरीज की अंगुलियों का काला पड़ना, पैरों में घाव का होना व बीमारी के बढने पर पैर में गैंगरीन तक हो जाता है व पैर को काटने तक की स्थिति आ जाती है।

इन सभी मरीजों की सी.टी. एंजियोग्राफी जाँच करवायी गयी तथा उसमें बीमारी की गंभीरता तथा मरीजों की स्थिति को देखते हुए उनको ऑपरेशन करवाने की सलाह दी गयी। मरीजों के पैरों को कटने से बचाने व बीमारी को फैलने से रोकने हेतु फीमोरल आरट्री बाईपास सर्जरी विद सिंथेटिक ग्राफ्ट तथा ऐथेरक्टोमी विद पेच प्लास्टी सर्जरी की गयी। ऐसे मरीजों को ऑपरेशन के लिये ऐनिस्थिसिया देना एक कठिन कार्य होता है।

ऐनेस्थिसिया विभागाध्यक्ष डॉ. अनिता पारीक के निर्देशन में डॉ. श्याम, डॉ.गौरव, डॉ. विथिका आदि की टीम ने सभी मरीजों को कुशलतापूर्वक ऐनिस्थिसिया दिया। सर्जरी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. सलीम ने इन ऑपरेशन्स के लिए अपने विभाग से कुशल रेजिडेण्ट डॉक्टर्स की टीम सीटीवीएस विभाग को उपलब्ध करवाकर विशेष सहयोग किया।

ऑपरेशन टीम में ये रहे शामिल
इन जटिल ऑपरेशन्स को करने वाली टीम में डॉ. नेहा, डॉ. अशोक, डॉ. आशीष, डॉ. रामशरन, डॉ. रोशनी तथा डॉ. सोनू के अतिरिक्त ओटी स्टाफ रिजवान, सुरेन्द्र, मुखराम, संजय, अनूप, नवरतन, भरत शर्मा, अमित झाम्ब, आदि शामिल थे।

इनका रहा विशेष सहयोग
6 मरीजों के सफल ऑपरेशन के पश्चात नर्सिंग स्टाफ शशि शर्मा, भगवती, मंजू, मनोज, शाकिर, सुनिता आदि ने राउंड द क्लॉक मरीजों की सेवा सुश्रुषा की।

प्राचार्य डॉ. सोनी ने दी बधाई

प्राचार्य एवं नियंत्रक डॉक्टर गुंजन सोनी ने सीटीवीएस एवं सर्जरी विभाग के चिकित्सकों की टीम को सफल ऑपरेशन के लिए बधाई दी और कहा कि सीटीवीएस विभाग में विभिन्न प्रकार की थोरेसिक सर्जरी, फेफडो की सर्जरी, वैस्कूलर सर्जरी आपातकालीन सर्जरी, व रीनल फैल्योर रोगीयों के हीमोडायलिसिस हेतु एवी फिस्टूला सर्जरी की सेवाएं नियमित रूप से जारी है।

प्राचार्य डॉ. सोनी ने बताया की कॉलेज प्रशासन एवं पीबीएम चिकित्सालय प्रशासन की सामूहिक जिम्मेदारी से मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने हेतु प्रतिबद्ध है।हमारा ध्यये नर सेवा नारायण सेवा की भावना अनुरूप चिकित्सा सेवा प्रदान करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *