RBI के पूर्व गवर्नर बोले- मैं ED कारवाई के खिलाफ

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

  • कहा- भारत में भी हैं दो भारत, हर घर तक नौकरी पहुंचना जरूरी

जयपुर , 1 फ़रवरी। जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में पहुंचे पूर्व आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन ने देश के अलग-अलग राज्यों में हो रही एनफोर्समेंट डायरेक्ट्रेट (ED) की कार्रवाई को गलत बताया है।

L.C.Baid Childrens Hospiatl

उन्होंने कहा कि यह भारतीय लोकतंत्र के लिए एक खतरा है। सिर्फ विपक्षियों को जेल में डाल देने से ही सब कुछ नहीं होगा। अगर विपक्षी ही जेल में होंगे, तो फिर हमारे पास क्या चॉइस रहेगी। यह मामला सिर्फ पॉलिटिशियन के लिए नहीं बल्कि, हम सबके लिए है। चुनाव से पहले ED को एक्टिव करना अच्छी बात नहीं है।

schoks manufacring

रघुराम राजन ने कहा कि देशभर में एजुकेशन सिस्टम को लेकर भी कोई पॉलिसी तैयार होनी चाहिए। ताकि स्टूडेंट्स को यह पता हो कि उन्हें यहां तक पढ़ने से इस तरह की जॉब और पैकेज मिलेगा। अगर ऐसा नहीं होगा तो यह एजुकेशन के लिए भी ठीक नहीं है।

सरकारी स्कूलों में भी एजुकेशन सिस्टम में सुधार होना चाहिए

राजन ने कहा कि सिर्फ प्राइवेट ही नहीं बल्कि, सरकारी स्कूलों में भी एजुकेशन सिस्टम में सुधार होना चाहिए। क्योंकि अधिकतर लोग सरकारी स्कूल होने के बावजूद अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूल में पढ़ाते हैं। उन्होंने कहा कि हमारे देश में लगातार बिगड़ रहे हालात के लिए बेरोजगारी एक बड़ी वजह है। ऐसे में हमें देश में ज्यादा से ज्यादा लोगों को रोजगार मुहैया करवाना चाहिए।

रघुराम राजन ने कहा कि भारत में भी दो भारत है। इनमें एक भारत ऐसा है। जो चीन से भी ज्यादा तेजी के साथ तरक्की कर रहा है। जबकि दूसरा भारत ऐसा है। जहां 80 करोड़ लोगों को सरकार को खाने के लिए भी पैकेट देने पड़ रहे हैं। ऐसे में समग्र भारत के विकास के लिए डेवलपमेंट सबसे ज्यादा जरूरी है। ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को रोजगार मुहैया हो सके।

राजन ने कहा कि देश के हर घर में एक व्यक्ति के पास अच्छी नौकरी होनी चाहिए। अब हमें इस दिशा में आगे सोचना होगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मैं देश में चल रही फ्री स्कीम के फेवर में नहीं हूं। इस तरह की स्कीम का पॉलिटिकल पार्टियों को कुछ वक्त के लिए फायदा जरूर हो जाता है। लेकिन भविष्य के लिए यह ठीक नहीं है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *