महाकाल की नगरी में महापाप

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

बच्ची का चल रहा इलाज, ऑटो ड्राइवर समेत चार दुष्कदुर्म आरोपी गिरफ्तार

L.C.Baid Childrens Hospiatl

लड़की के कपड़े गायब थे, खून बह रहा था और वो… मददगार ने बताया उज्जैन का दिल दहला देने वाला मंजर

mona industries bikaner

उज्जैन , 28 सितम्बर। पूरे देश ने बुधवार को मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में बलात्कार की शिकार एक नाबालिग लड़की को खून से लथपथ दर-दर मदद मांगते देखा। अर्धनग्न लड़की मदद की तलाश में घर-घर गई लेकिन किसी ने उसकी मदद को हाथ आगे नहीं बढ़ाए।

इंसानियत को शर्मसार कर देनेवाली इस घटना का सीसीटीवी फुटेज दिल दहलाने वाला है। फुटेज में देखा जा सकता है कि नाबालिग एक घंटे तक इलाके में घूमती है लेकिन कोई भी उसकी मदद के लिए नहीं आता है। यहां तक कि एक घर से उसे आगे भगा दिया जाता है।

अर्धनग्न हालत में सड़क पर भटकती रही बच्ची

बुधवार सुबह उज्जैन से शर्मसार करने वाली घटना सामने आई। महाकाल के शहर में एक बच्ची के साथ दुष्कर्म कर उसके साथ हैवानियत की गई। बच्ची के प्राइवेट पार्ट्स पर चोट के निशान पाए गए। उसके कपड़े खून से सने मिले। सीसीटीवी फुटेज के अनुसार, बच्ची अर्धनग्न अवस्था में लगभग ढाई घंटे तक सड़क पर भटकती रही।

पुलिस में दर्ज रिपोर्ट के मुताबिक, राहुल शर्मा ने तुरंत लड़की को पहनने के लिए कुछ दिया और दलिया, पानी और चाय पिलाई। उसनेलड़की सेउसके परिवार के बारे में पूछा लेकिन वह उसकी भाषा समझ नहीं पाई।

वो गेट पर खड़ी थी… उसके कपड़े गायब थे’

लड़की को आखिरकार आश्रम के एक कार्यकर्ता राहुल शर्मा ने सुबह 9:25 बजे देखा। स्थानीय आश्रम में गुरुकुल चलाने वाले राहुल शर्मा ने कहा, ”मैं कुछ जरूरी काम से जा रहा था। मैंने देखा कि वह मेरे मेन गेट से कुछ फीट की दूरी पर खड़ी थी और उसके कपड़े गायब थे। ऐसा लग रहा था जैसे उसने कुछ कपड़े पहन रखे हों। उसका बहुत खून बह रहा था, उसकी आंखें सूज गई थीं और वह डरी हुई लग रही थी।”
इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, राहुल शर्मा ने तुरंत लड़की को पहनने के लिए कुछ दिया और दलिया, पानी और चाय
पिलाई। उसनेलड़की से उसके परिवार के बारे में पूछा लेकिन वह उसकी भाषा समझ नहीं पाई। उन्होंने कहा, “मैंने बच्ची से पूछा, भूख लग रही है? उसने मुझे हां में जवाब दिया। मैंने उसे आश्रम से लेकर नाश्ता और चाय दी। मैं उसे बार-बार पूछा कि तुम्हारा नाम क्या है? तुम कहां सेआई हो? कहां की रहनेवाली हो? तुम्हारे माता-पिता का कोई नाम नंबर याद हो तो वह मुझे बताओ। मैंने उसे 100 रुपये दिए और पुलिस को बुलाया। मैंनेउसे एक कागज का टुकड़ा और एक पेन दिया, लेकिन वह कुछ भी लिखने में असमर्थ थी। सुबह 10:25 बजे उसे पुलिस को सौंप दिया गया। यह एक पवित्र शहर है और यहां के लोगों को मददगार माना जाता है, लेकिन किसी ने उसकी मदद नहीं की और वह घर-घर जाकर रोती रही। इससे समाज में एक बुरा संदेश जाता है… कोई मानवता नहीं बची।”

पीड़ित की सर्जरी हुई है
पुलिस नेकहा कि उन्हें सोमवार सुबह आश्रम के पास घायल लड़की मिली और वे उसे स्थानीय अस्पताल ले गए, जहां उसका इलाज चल रहा है और वह खतरे से बाहर बताई जा रही है। अस्पताल के एक वरिष्ठ डॉक्टर नेबताया, “पीड़ित की सर्जरी हुई है और उसे निगरानी में रखा गया है। उस पर लगातार निगरानी रखी जा रही है। उनके स्वास्थ्य पर टिप्पणी करना अभी भी जल्दबाजी होगी… सर्जिकल जटिलताओं से निपटा जा सकता है लेकिन मानसिक जटिलताओं से निपटना मुश्किल है।”
उज्जैन के पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा ने बताया, “मेडिकल जांच में बलात्कार की पुष्टि हुई है। हमने एक विशेष जांच दल का गठन किया हैऔर एक संदिग्ध, एक ऑटो रिक्शा चालक को हिरासत में लिया है, जिसे सीसीटीवी फुटेज में लड़की से बात करते देखा गया था। हमारे पास कुछ परिस्थिति जन्य साक्ष्य हैं और हम जल्द ही गिरफ्तारी करेंगे।” पुलिस के मुताबिक, लड़की उन्हें सही नाम या पता नहीं बता पा रही थी। पुलिस ने कहा कि उन्होंने सीसीटीवी फुटेज हासिल कर लिया है और यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि वह वहां कैसे पहुंची और उसके साथ कहां मारपीट की गई।

मध्य प्रदेश के उज्जैन (Ujjain Rape Case) में 12 साल की नाबालिग लड़की से रेप के मामले में पुलिस के हाथ अहम सुराग लगा है. पुलिस को एक ऑटो ड्राइवर के गिरफ्तार किया है. जिसके ऑटो से खून के निशान मिले हैं. साथ ही तीन अन्य लोगों को भी हिरासत में लिया गया है. पुलिस चारों लोगों से पूछताछ कर रही है. ऑटो को फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया है.
पुलिस के मुताबिक, पीड़ित बच्ची उज्जैन के जीवनखीरी इलाके से ऑटो में बैठी थी. सीसीटीवी फुटेज में भी इसकी पुष्टि हुई है. आगे चलकर ऑटो किस तरफ गया इसका फिलहाल पता नहीं चल सका. पुलिस ने जिस ऑटो पकड़ा उसमें खून के धब्बे मिले. इसी के आधार पर पुलिस ने 38 साल ऑटो ड्राइवर राकेश को गिरफ्तार कर लिया. राकेश से पुलिस पूछताछ कर रही है कि यह खून के निशान किसके हैं और वारदात वाले दिन वह कहां था.

आरोपियों की पहचान उजागर नहीं किया गया

मामले में हिरासत में लिए गए चारों आरोपियों की अभी तक उजागर नहीं की गई है। पुलिस ने 8 किलोमीटर में लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच की है। फुटेज में देखा जा सकता है कि पीड़िता मदद की गुहार लगा रही है। फुटेज से पता चला है कि घटना सुबह तकरीबन 4 से 5 बजे के बीच में हुई है। इस अपराध में दो ऑटो ड्राइवर के शामिल होने की जानकारी सामने आई है।

थार एक्सप्रेस
CHHAJER GRAPHIS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *