चूरू के शायर खामोश को विशिष्ट साहित्यकार सम्मान

stba

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

चूरू, 29 सितम्बर। राजस्थान के जाने माने कवि, गीतकार, गजलगो एवं साहित्यकार और चूरू जनपद के लाडले बनवारी लाल शर्मा खामोश को राजस्थान साहित्य अकादमी, उदयपुर द्वारा विशिष्ट साहित्यकार सम्मान-2023 एवं पुरस्कार दिए जाने की घोषणा पर साहित्यिक संस्था हिन्दी साहित्य संसद सहित जिले के साहित्यकारों ने हर्ष व्यक्त किया है।

L.C.Baid Childrens Hospiatl

हिंदी साहित्य संसद के महामंत्री विजय कांत ने बताया कि अपनी अलहदा अंदाज के लिए और खूबसूरत शायरी के लिए देशभर में मशहूर बनवारी लाल खामोश उच्च कोटि के साहित्यकार हैं। साहित्य की विभिन्न विधाओं पर खामोश का समान आधिपत्य है। पद्य में जहां गीत हो, गजल हो या दोहे, वहीं गद्य में भी लघुकथा एवं आलेख आदि में खामोश का योगदान उल्लेखनीय है।

mona industries bikaner

सरकारी सेवा से सेवानिवृत्ति के बाद से आप 75 वर्ष पुरानी संस्था हिंदी साहित्य संसद के अध्यक्ष पद का दायित्व निभा रहे हैं। हिंदी साहित्य संसद ने अनेक उभरती प्रतिभाओं को मंच प्रदान करने तथा उनके मार्गदर्शन का काम पूरी तन्मयता से किया है। हिंदी साहित्य संसद ने विशिष्ट साहित्यकार सम्मान के लिए राजस्थान साहित्य अकादमी, उदयपुर के अध्यक्ष दुलाराम सहारण तथा निर्णायक मंडल का आभार व्यक्त किया है।

थार एक्सप्रेस
CHHAJER GRAPHISstba

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *