बीकानेर के नाल और सालासर क्षेत्र में मिले तेल व गैस के भंडार

stba

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

बीकानेर , 26 दिसंबर। प्रदेश को समृदि्ध की ओर ले जाने वाले भूगर्भ के एक और खजाने का पता चला है। बीकानेर से दस किलोमीटर दूर नाल बड़ी और सालासर गांव के पास व्हाइट क्ले की पट्टी के नीचे क्रूड ऑयल और प्राकृतिक गैस के भंडार मिले हैं।

L.C.Baid Childrens Hospiatl

बीकानेर-नागौर बेसिन में 2118 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र के स्केनर मशीनों से सर्वे और 2 डी व 3 डी भूकम्प सर्वे के बाद यह तीन स्थान डि्रल के लिए तय किए गए हैं। अब वेल डि्रल (कुआं खोदकर) से गैस और तेल के भंडार की गहराई और क्वालिटी का पता चलेगा।

mona industries bikaner

केन्द्र सरकार ने डि्रलिंग कर तेल और गैस की क्वालिटी, भूगर्भ में भंडार और नमूने लेने के लिए ओएनजीसी को 60 करोड़ रुपए का प्रोजेक्ट सौंपा है। ओएनजीसी की डि्रलिंग मशीनें और अन्य सामान बीकानेर के पास नाल क्षेत्र में पहुंच चुका है।

यह क्षेत्र तेल और प्राकृतिक गैस के बीकानेर-नागौर बेसिन का हिस्सा है। साल 2020 से अब तक बीकानेर जिले के लूणकरनसर, खाजूवाला, कोलायत आदि क्षेत्र में भूगर्भ सर्वे कर तेल और गैस का पता लगाया गया।

केन्द्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल की मौजूदगी में डि्रलिंग कार्य की शुरुआत मंगलवार को नाल में की गई। इसके बाद सालासर में भी डि्रलिंग होगी। सर्वे में नाल व सालासर के इस क्षेत्र को तेल व गैस निकालने के लिए फिजिबल माना गया है। बीकानेर में 25 मिलियन हैवी क्रूड आयल होने का अनुमान है।

यों आगे बढ़ा काम

केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने 13 जुलाई 2020 को तीन साल के लिए सर्वे का काम एक कंपनी को सौंपा था। कोविड के चलते कार्य अवधि को 20 फरवरी 2024 तक बढ़ाया गया।

इस ब्लॉक में बीकानेर-नागौर बेसिन का 2118 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र रखा। भूकम्प सर्वे 2 डी में 291 किलोमीटर और 3 डी में 208 वर्ग किलोमीटर को लिया गया। सर्वे के आधार पर अब तीन स्थान कुआं खोदने (वेल डि्रल) के लिए तय कर ओएनजीसी को सौंपे गए हैं।

तीन स्थान जहां करेंगे वेल डि्रल

1. नेशलन हाइवे 11 बीकानेर-जैसलमेर से करीब तीन किलोमीटर दूर कोलायत तहसील के सालासर गांव की रोही में 1522 मीटर गहराई तक डि्रल कर क्रूड ऑयल और प्राकृतिक गैस के नमूने लिए जाएंगे।

2. नेशनल हाइवे 11 बीकानेर-जैसलमेर से 640 मीटर दूर नाल बड़ी गांव के क्षेत्र में 1527 मीटर गहराई तक डि्रल की जाएगी।

3. नेशनल हाइवे 11 बीकानेर-जैसलमेर से 1.2 किलोमीटर दूर नाल बड़ी की रोही में एक और जगह 1509 मीटर गहराई तक डि्रल की जाएगी।

बदल जाएगी तस्वीर

केन्द्रीय कानून मंत्री भारत सरकार, अर्जुनराम मेघवाल ने कहा कि भारत सरकार के पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने बीकानेर के नजदीक ही भूगर्भ में क्रूड ऑयल और प्राकृतिक गैस के भंडार का पता लगाया है। वेल डि्रलिंग का कार्य ओएनजीसी कर रही है। इसमें अच्छी गुणवत्ता का क्रूड ऑयल और गैस निकलने पर इस इलाके की तस्वीर बदल जाएगी।

 

 

 

 

 

CHHAJER GRAPHIS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *