रिश्वत मांगने पर एक कर्मचारी रंगेहाथ पकड़ा गया, दो भागे

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

परिवादी ने रिश्वत राशि देते ही एसीबी की टीम को इशारा कर दिया। इशारा मिलते ही टीम ने उसे दबोच लिया। वहीं एसीबी की कार्रवाई की भनक लगने पर बाबू एवं एसडीएम की गाड़ी का चालक फरार हो गए।

L.C.Baid Childrens Hospiatl

बीकानेर, 30 सितम्बर। बीकानेर. पूगल. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने पूगल एसडीएम कार्यालय के कर्मचारी को रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है। सहायक कर्मचारी नारायणराम ने एसडीएम कार्यालय में ही रिश्वत ली थी। परिवादी ने रिश्वत राशि देते ही एसीबी की टीम को इशारा कर दिया। इशारा मिलते ही टीम ने उसे दबोच लिया। वहीं एसीबी की कार्रवाई की भनक लगने पर बाबू एवं एसडीएम की गाड़ी का चालक फरार हो गए। यह कार्रवाई एसीबी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महावीर प्रसाद के नेतृत्व में पुलिस निरीक्षक श्रवण कुमार की टीम ने की।

schoks manufacring

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने बताया कि परिवादी ने एक खेती की जमीन खरीद रखी है, जिसकी खातेदारी सनद के लिए वह लंबे समय से एसडीएम कार्यालय के चक्कर निकाल रहा था। एसडीएम ऑफिस का निजी सहायक द्वितीय गोविंद प्रसाद ओझा से मिला। तब ओझा ने परिवादी से 20 हजार रुपए की रिश्वत की मांग की। परिवादी ने परेशान होकर बीकानेर एसीबी चौकी में इसकी 18 सितंबर को शिकायत की। 21 सितंबर को एसीबी की टीम ने शिकायत का सत्यापन किया।

आरोपी गोविंद प्रसाद ओझा ने 20 हजार की रिश्वत की मांग की और दस हजार में सौदा तय हो गया। इस पर एसीबी ने शुक्रवार को ट्रैप की योजना बनाई। दोपहर बाद एसीबी के पुलिस निरीक्षक श्रवण कुमार के नेतृत्व में हवलदार राजवीर सिंह, नरेन्द्र कुमार, सिपाही रतनसिंह, अनिल कुमार, हरिराम, भगवानदास पूगल पहुंचे। उन्होंने परिवादी को विशेष रसायन लगे रुपए देकर भेजा। इस दौरान आरोपी गोविंद की मौजूदगी में एसडीएम की गाड़ी के चालक अली खां ने रिश्वत की मांग की। तब परिवादी ने कहा कि वह थोड़ी देर में रुपए लेकर आता है।

बताया जा रहा है कि वह ऑफिस से निकल गया। कुछ देर बाद वह वापस ऑफिस गया, तो वहां पर गोविंद व अली खां दोनों नहीं मिले। सहायक कर्मचारी नारायण राम ने परिवादी से कहा कि अली खां को जो रुपए देने वाले थे, वह मुझे दे दो। परिवादी ने रिश्वत की राशि दस हजार रुपए सहायक कर्मचारी नारायणराम को देकर एसीबी की टीम को इशारा कर दिया। एसीबी की टीम ने उसे रंगे हाथों दबोच लिया। आरोपी के पास से विशेष रसायन लगे नोट बरामद कर लिए। आरोपी के हाथों को धुलवाने पर उसका रंग गुलाबी आ गया।

दोनों फरार, निजी सहायक के घर की तलाशी

एसीबी की कार्रवाई की भनक लगने पर निजी सहायक गोविंदप्रसाद व चालक अली खां फरार हो गए। एसीबी के पुलिस निरीक्षक आनंद मिश्रा के नेतृत्व में गोविंद के बीकानेर की इन्द्रा कॉलोनी स्थित घर की तलाशी ली। एसीबी को तलाशी में कुछ नहीं मिला। वहीं दूसरी ओर परिवादी के पास इकरारनामा है, जमीन की खातेदारी से जुड़ा मामला है। शुक्रवार को परिवादी को खातेदारी सनद मिल गई। इस दरम्यान एसडीएम पूगल की भूमिका की भी एसीबी जांच कर रही है।

GYPSUM POWDER

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *