बीकानेर में करोड़ों की ठगी करने वाला 11 साल बाद गिरफ्तार

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

व्यापारियों से मूंगफली खरीद के नाम पर करोड़ों की हेराफेरी के बाद से फरार, 11 साल बाद पकड़ा गया

L.C.Baid Childrens Hospiatl

बीकानेर , 16 जनवरी. बीकानेर के श्रीडूंगरगढ़ में व्यापारियों से करोड़ों रुपए की ठगी करने के आरोप में गुजरात के एक शख्स को पोरबंदर से गिरफ्तार किया गया है। उसके खिलाफ जनवरी 2013 में मामला दर्ज कराया गया था लेकिन इसके बाद से वो फरार चल रहा था। बीकानेर के कई थानों में उसके खिलाफ ठगी के मामले दर्ज हैं। पुलिस ने इस ठग पर पांच हजार रुपए का ईनाम भी रखा हुआ था।

schoks manufacring

पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम ने बताया कि 27 जनवरी 2013 को श्रीडूंगरगढ़ के बिग्गा में रहने वाले गोपालराम तापडिया (50) ने मामला दर्ज कराया कि गुजरात के मेहुल पटेल और कमलेश पटेल ने मूंगफली खरीद के नाम पर उससे ठगी की। इन दोनों ने मिलकर अलग-अलग दिन दस लाख 55 हजार 92 रुपए और 18 लाख सोलह हजार एक सौ छह रुपए ठग लिए। इसके बाद मेहुल पटेल को गिरफ्तार कर लिया गया लेकिन कमलेश पटेल फरार हो गया। काफी कोशिश के बाद भी कमलेश पटेल पुलिस के हाथ नहीं लगा। पिछले दिनों राज्य सरकार ने वारंटियों को गिरफ्तार करने का अभियान तेज किया तो एक बार फिर कमलेश की गिरफ्तारी के लिए टारगेट किया गया।

बिग्गा निवासी गोपालाराम की फर्म मैसर्स महेश्वरी ट्रेडिंग कम्पनी सूडसर व रूधलाल तापड़िया की फर्म मैसर्स तापडीया ट्रेडिंग कम्पनी सूडसर ने अलग-अलग मामला दर्ज कराया था। आरोप था कि कमलेश पटेल निवासी जूनागढ व मेहुल भाई पटेल निवासी जुनागढ व उसके साथ आये 4-5 अन्य लोगों ने हमे व्यापार का झांसा देकर हमसे मूंगफली खरीद की व हमारे कमंश 10 लाख 55 हजार 92 रुपए और 18 लाख 16 हजार 106 रुपए हड़प लिए।

पहले मेहुल पटेल को गिरफ्तार किया गया लेकिन कमलेश की गिरफ्तारी नहीं हो सकी। आरोपी कमलेश पटेल की तलाश के भरसक प्रयास किये गये मगर वो फरार रहा। आरोपी कमलेश पटेल पर बीकानेर के अलग-अलग थानों में 05 मामले दर्ज है। आरोपी की गिरफतारी पर पांच हजार रुपए का इनाम जारी किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *