थार मरुस्थल की जैव विविधता

stba

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

बीकनेर 26 सितंबर । पर एमजीएसयू के प्रो॰ छंगाणी का विस्तार व्याख्यान जोधपुर विश्वविद्यालय में आयोजित
जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय जोधपुर के प्राणी शास्त्र विभाग में आज थार मरुस्थल की जैव विविधता पर एमजीएसयू के प्रो अनिल कुमार छंगाणी का विस्तार व्याख्यान आयोजित किया गया। विश्वविद्यालय मीडिया प्रभारी डॉ॰ मेघना शर्मा ने बताया कि इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता जोधपुर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो के एल श्रीवास्तव द्वारा की गई।

L.C.Baid Childrens Hospiatl

प्राणी विज्ञान विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. नरेश व्यास ने कहा कि प्रोफेसर छंगाणी इसी विभाग और विश्वविद्यालय की एलुमिनाई है, तथा इन्होंने इसी विभाग से स्नातकोत्तर,शोध एवं डी एससी का कार्य संपन्न किया था। उन्होंने बताया कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को ध्यान में रखते हुए छात्रों के सर्वांगीण विकास हेतु इस तरह के व्याख्यान विभाग में समय-समय पर कराए जा रहे हैं।

mona industries bikaner

प्रो. छंगाणी ने अपने व्याख्यान में बताया कि, थार मरुस्थल की जैव विविधता बहुत ही समृद्ध है, और यहां के जीवन में इसका बहुत बड़ा योगदान है। इस जैव विविधता के चलते कोविड महामारी के दौरान भी थार मरुस्थल के लोगों को जीवन यापन हेतु बहुत बड़ा सहयोग दिया । लेकिन आज थार की जैव विविधता को मानव गतिविधियों से बहुत बड़ा नुकसान हो रहा है।

प्राकृतिक संसाधनों के अंधाधुन दोहन, सौर ऊर्जा की परियोजनाओं और अन्य विकास के कार्य थार की जैव विविधता को सबसे बड़ा खतरा है। इस अवसर एक्स्टेंशन एक्टिविटी सेल की निदेशक , प्रो. कांता कटारिया, प्रो. सीमा त्रिवेदी, प्रो. जीआर परिहार, विभाग के अन्य संकाय सदस्य, छात्र एवं शोधार्थी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन विभाग की सह आचार्य डॉ मीनाक्षी मीणा ने किया।

थार एक्सप्रेस
CHHAJER GRAPHIS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *