Rahul Singh Gahlaut Double hundred: भारत का महाभयानक बल्लेबाज, 143 गेंदों में जड़ा दोहरा शतक, रवि शास्त्री का रिकॉर्ड बाल-बाल बचा

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

भारत में एक से बढ़कर एक बल्लेबाज हैं। एक ओर जहां इंटरनेशनल लेवल पर रोहित शर्मा और विराट कोहली जैसे सितारे तमाम रिकॉर्ड अपने नाम रखते हैं तो इस बीच एक हैदराबाद के खिलाड़ी ने रणजी ट्रॉफी इतिहास का दूसरा सबसे तेज दोहरा शतक जड़ा है। रवि शास्त्री का रिकॉर्ड बाल-बाल बचा।

नई दिल्ली, 5 जनवरी। रणजी ट्रॉफी 2024 सीजन का आगाज आज हुआ। टूर्नामेंट का एक मुकाबला नागालैंड और हैदराबाद के बीच नागालैंड क्रिकेट स्टेडियम में शुरू हुआ। इस मैच में राहुल सिंह गहलोत ने बेजोड़ बैटिंग करते हुए सिर्फ 143 गेंदों में ही दोहरा शतक जड़ दिया। यह रणजी ट्रॉफी इतिहास की सबसे तेज डबल सेंचुरी है। सर्विसेस के लिए खेल चुके राहुल जब आउट हुए तो 157 गेंदों में 214 रन उनके नाम थे, जबकि 23 चौके और 9 छक्के उनके बल्ले से निकले।

L.C.Baid Childrens Hospiatl

बाल-बाल बचा रवि शास्त्री का रिकॉर्ड
उनके बल्ले से जब रनों का अंबार लग रहा था तो लगा वह भारत के पूर्व कोच और मुंबई के महान ऑलराउंडरों में शामिल रवि शास्त्री के सबसे तेज दोहरा शतक के रिकॉर्ड को तोड़ देंगे। हालांकि, ऐसा हुआ नहीं। रवि शास्त्री ने सिर्फ 123 गेंदों में बड़ोदा के खिलाफ दोहरा शतक जड़ा था। यह आज भी भारतीय रिकॉर्ड है। यह मुकाबला मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला गया था।

schoks manufacring

मैच के पहले सत्र में दोहरा शतक जड़ने वाले पहले बल्लेबाज
हैदराबाद के बल्लेबाज राहुल सिंह गहलौत रणजी ट्रॉफी 2023-24 के इस सीजन में नागालैंड के खिलाफ दोहरा शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं। भारत के प्रमुख घरेलू टूर्नामेंट के शुरुआती दिन राहुल ने 157 गेंदों पर शानदार 214 रन बनाए और उनकी पारी में नौ छक्के और 23 चौके शामिल थे। राहुल, जो पहले सर्विसेज के लिए खेलते थे, ने 143 गेंदों पर दूसरा सबसे तेज प्रथम श्रेणी शतक लगाया और एक छक्के के साथ मील के पत्थर तक पहुंचे। यह हैदराबाद के लिए उनका पहला रणजी ट्रॉफी प्रदर्शन था।

तिलक वर्मा ने भी जड़ दिया शतक
नागालैंड क्रिकेट स्टेडियम में नागालैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। हालांकि, उसका निर्णय उलटा पड़ गया, क्योंकि हैदराबाद ने राहुल की विध्वंसक बैटिंग और तन्मय अग्रवाल के 109 गेंदों में 80 रन की ताबड़तोड़ पारी के दम पर सिर्फ 36.4 ओवरों में ही 235 रन बना लिए थे। जब राहुल आउट हुए तो हैदराबाद ने 53.3 ओवरों में 353 रन बनाए थे। इसमें 214 रन राहुल के थे। उनके आउट होने के बाद टीम के कप्तान तिलक वर्मा ने भी शतक जड़ा और टीम को 400 रनों के पार पहुंचा दिया है।

GYPSUM POWDER

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *