श्री कृपाल भैरव अभिषेक 27 सितम्बर को

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

बीकानेर 23 सितम्बर । श्री कृपाल भैरव का अभिषेक 27 सितम्बर बुधवार को “भैरू निवास” रामपुरिया जैन कॉलेज के पीछे, मोहता कुआ के पास बीकानेर में है। भादवा शुक्ल तेरस बुधवार दिनांक 27 सितम्बर 2023 को भैरूनाथ का अभिषेक, जोत, आरती व भव्य जागरण होगा । ट्रस्ट के अध्यक्ष अजयसिंह पंवार उर्फ ओमसा ने बताया कि बीकानेर नगर निगम के उप महापौर राजेन्द्र पंवार, शहर कांग्रेस अध्यक्ष यशपाल गहलोत, वरिष्ठ कांग्रेस नेता जर्नादन कल्ला ,नगर विकास न्यास के पूर्व न्यासी व ट्रस्ट के संरक्षक खूमराज पंवार, राजस्थान सरकार के शिक्षा व सांस्कृतिक मंत्री डॉ. बी.डी. कल्ला, शहर कांग्रेस उपाध्यक्ष हीरालाल हर्ष, कवि-कथाकार राजाराम स्वर्णकार, सखा संगम के अध्यक्ष एन.डी. रंगा, साहित्यकार राजेन्द्र जोशी, कवि चन्द्रशेखर जोशी, शिक्षाविद् भगवानदास पडिहार, मास्टर डी.पी. गहलोत के सानिध्य में सभी कार्यक्रम आयोजित किए जायेगें ।
अभिषेक भैरव स्त्रोत हवन पूजा भौपा गिरधारी पंवार, पंडित महेश जोशी, सत्यनारायण पॅवार, दूध दही पंचामृत, इत्र तेल – सिन्दूर माली-पाना पोशाक भोपा दीपक गहलोत, हुकमसिंह तंवर, अनूप पंवार, बृजगोपाल जोशी (पी.ए.) नागेश्वर जोशी, भगवन्तसिंह पंवार, शशिशेखर जोशी, ललित लालवानी व विनोद शर्मा रामजीवण पंवार करेंगे मंदिर में रंगपेन्ट पेन्टर अशोक तेजसिंह पॅवार, यश पॅवार ने किया। भैरूनाथ की ध्वजा व श्रृंगार, अखंड जोत, जानकी देवी, मंजू, पूजा, दुर्गा, मीना व आशा पंवार परिवार ने किया । श्रीकृपाल भैरुनाथ का पोस्टर (भोज) इन्टरप्राईजेज के मनोज सोलंकी व शर्मा इन्टर प्राईजेज के विनोद शर्मा तथा श्री भैरुनाथ गारमेन्ट शिव प्लाजा मार्केट ने तैयार किया । मन्दिर व जागरण चौक की सजावट गेट, फरीयाँ, स्टेज साऊंड आदि की तैयारी कई दिनों से हरिमोहन पंवार, नवीन पॅवार आनन्द पंवार, राजेन्द्र (बापू) कृष्णा, निखिल, राजेश, हैप्पी, चंचल, सूर्या, प्रेमसिंह, चेल्सी दिव्या, तरूण विनिता, प्रमोद, तसलीम, शरीफ, जूगल सहित पंवार परिवार के सभी सदस्य गण हर्षोल्लास से कर रहे है।
सिंगर नानू राजेन्द्र पंवार कि देखरेख में सभी कार्य हो रहे हैं। रात्रि का भव्य जागरण मास्टर भगवानदास परिहार के दिशा निर्देशन में गायक कलाकार व पंडित चिया महाराज, सूर्या भाई, राधेश्याम बिस्सा, राज कलकता, रामदेव गहलोत व झांकी में राधा कृष्ण, शिव पार्वती, एवं हनुमान का नृत्य आदि “नवप्रीत” गंगानगर द्वारा प्रस्तुत किये जायेगें । ट्रस्ट के संरक्षक व नगर विकास न्यास बीकानेर के पूर्व न्यासी खूमराज पंवार ने बताया कि श्री कृपाल भैरुनाथ हमारे पूर्वजो के साथ पिछले 346 (तीन सौ छयालिस) साल पूर्व जैसलमैर से माउन्ट आबू में चामुंडा माता के दर्शन उपरान्त महाकाल उज्जैन होते हुए बीकानेर में वर्तमान स्थित भैरव निवास मन्दिर के पास रूके श्री भैरवनाथ को “खाईटीए” में रखकर ऊँटगाडे से लाए व विधिविधान से पूजा करते रहे जो आजतक जारी है। बीकानेर से वापिस आगे जैसलमेर की और जाने के लिए भैरवनाथ के “खाईटीए को उठाने लगे तो मूर्ति उठी नहीं इसलिए पंवार (माली) परिवार यहीं रहने लग गया। पंवार (माली) परिवार के “कूल देवता” होने के कारण यहां झडुला, जात लगाई जाती है। श्री भैरवनाथ कृपालू होने के साथ साथ चमत्कारी भी हैं। भैरूनाथ ने कई पर्चे भी दिये हैं। शुक्ल पक्ष की तेरस को प्रतिमाह मन्दिर में रात्रि को भव्य जागरण व सत्संग होता है तथा मन्दिर में अखण्ड जोत रहती है।

L.C.Baid Childrens Hospiatl
थार एक्सप्रेस
CHHAJER GRAPHIS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *