गिरिराज खैरीवाल को अंतरराष्ट्रीय हिन्दी सम्मेलन में सम्मानित किया गया

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

बीकानेर। विश्व हिन्दी परिषद द्वारा 20-21 सितंबर 2023 को नई दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर की 115 वीं जयंती के सुअवसर पर आयोजित अंतरराष्ट्रीय हिन्दी सम्मेलन में बीकानेर के शिक्षाविद – पत्रकार गिरिराज खैरीवाल को सम्मानित किया गया। केंद्रीय राज्य मंत्री एस. के. सिंह बघेल ने खैरीवाल को प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। भारतीय दार्शनिक अनुसंधान परिषद (आईसीपीआर), राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान (एनआईओएस), भारतीय सामाजिक विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएसएसआर), रूरल इलेक्ट्रीफिकेशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड एवं राष्ट्रीय भवन निर्माण निगम लिमिटेड (एनबीसीसी) के सहयोग से आयोजित हुए
इस दो दिवसीय सम्मेलन में देश विदेश के लब्ध प्रतिष्ठित साहित्यकारों, शिक्षाविदों, विश्व विद्यालययी कुलपतियों, उपकुलपतियों, प्रवक्ताओं, महाविद्यालययी प्राचार्यों, व्याख्याताओं, स्कूली प्राचार्यों, निदेशकों, प्राध्यापकों, अध्यापकों, पत्रकारों इत्यादि सहित लगभग 300 हिन्दी के प्रबल समर्थकों ने सक्रिय संभागित्व किया। मणिपुर की राज्यपाल महामहिम सुश्री अनुसूइया उई, सिक्किम के राज्यपाल महामहिम श्री लक्ष्मण आचार्य, केंद्रीय राज्य मंत्री अजय मिश्रा, केंद्रीय राज्य मंत्री एस के सिंह बघेल, पूर्व सांसद अरुण कुमार, उतर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही, परमार्थ निकेतन आश्रम, ऋषिकेश के अध्यक्ष स्वामी चिदानंद सरस्वती महाराज एवं साध्वी भगवती सरस्वती, रामधारी सिंह दिनकर के पौत्र अरविंद कुमार सिंह, ग्लोबल ओपन यूनिवर्सिटी, नागालैंड के कुलाधिपति प्रो प्रियरंजन त्रिवेदी, पद्मश्री तारादेवी, उपभोक्ता एवं खाद्य मंत्रालय के अपर सचिव आई ए एस शांतमनु, भारतीय दार्शनिक अनुसंधान परिषद के सदस्य सचिव प्रो सच्चिदानंद मिश्र, वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय, आरा के पूर्व कुलपति डॉ. सुरेश प्रसाद सिंह, एनआईओएस की अध्यक्ष प्रो सरोज शर्मा, विश्व हिन्दी परिषद के अध्यक्ष विनय भारद्वाज, महासचिव डॉ. बिपिन कुमार, सह संयोजक दीपक ठाकुर, आज तक न्यूज़ चैनल के संपादक सुधीर चौधरी, पंजाब केसरी की सीएमडी किरण चौधरी,
इग्नू के हिन्दी विभाग के प्रोफेसर नरेंद्र मिश्र, चेन्नई केंद्रीय विश्वविद्यालय, चेन्नई के प्रोफेसर राजरत्नम, दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर रामनारायण पटेल, एवं प्रो अनिल राय, पी जी सेंटर, मधेपुरा, बिहार के अध्यक्ष डॉ. सिद्धेश्वर कश्यप, जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के पूर्व प्रोफेसर महेंद्रपाल शर्मा, केंद्रीय हिन्दी संस्थान, दिल्ली की क्षेत्रीय निदेशक डॉ. मंजुराय, कोल्हापुर विश्वविद्यालय, महाराष्ट्र के हिन्दी विभाग के अध्यक्ष प्रो अर्जुन चव्हाण, वरिष्ठतम साहित्यकार – इतिहासकार डॉ. सी एल सोनकर, डॉ. सी एल सोनकर शिक्षाविद डॉ. वेदप्रकाश, प्रो श्रीनिवास त्यागी, प्रो. संध्या वात्स्यायन, डॉ. पूनम सिंह, डॉ. प्रतिभा राणा, प्रो तृप्ता, डॉ. अनामिका, डॉ. भावना शुक्ल, डॉ. श्रवण कुमार, डॉ. पूनम कुमारी, डॉ. जंगबहादुर पांडेय, प्रो. मार्कंडेय राय, डॉ. दीनदयाल, सिम्मी राठौड़ (लंदन), कवयित्री सुनीता कंवर, दिनेश जिंदल, बिपिन कुमार (गया, बिहार), ममता चौधरी (मेरठ) सहित अनेक प्रतिष्ठित प्रबुद्ध जनों ने सक्रिय सहभागिता की।

L.C.Baid Childrens Hospiatl
थार एक्सप्रेस
CHHAJER GRAPHIS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *