जैन पंचांग 2024 का लोकार्पण  समारोह आयोजित हुआ , सभी को 21 व्यंजन सीमा अभियान से जुड़ने की अपील की 

stba

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

गंगाशहर , 30 दिसम्बर । समाज सुधार के सम्बन्ध में जैन महासभा के 21 व्यंजन सीमा अभियान से समाज में एकरूपता व्याप्त हुई है। ये उद्गार जैन महासभा केअध्यक्ष विनोद बाफना ने पंचांग लोकार्पण समारोह में कही।  उन्होंने  कहा कि शादी, विवाह, अन्य सामाजिक, पारिवारिक आयोजन मेल मिलाप समाज में प्रेम और सांमजस्य बढ़ाने के अवसर होते है। इन अवसरों का आयोजन बहुत ही शालीनता और मर्यादा से होना चाहिए। उन्होंने कहा कि आजकल देखा-देखी में अपव्यय की मानसिकता बढ़ रही है जिसको रोकना समाज की जिम्मेदारी है ताकि समाज अपनी पहचान बनाये रखे।
जैन महासभा के अध्यक्ष विनोद बाफना ने कहा कि समाज में सादगीपूर्ण आयोजनों हेतु जैन समाज के प्रत्येक व्यक्ति को 21 व्यंजन सीमा अभियान के अनुरूप संकल्पित होना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रदर्शन  व आडम्बर जहां आध्यात्मिक रूप से उचित नहीं है वहीं व्यवहार रूप से भी इससे समाज में ईष्र्या व होड़ बढ़ती है , जो उचित नहीं है। उन्होंने भोजन में जमीकंद का उपयोग न करने, लेडिज वेटर न रखने तथा व्यंजन का नामकरण संस्कृति के अनुरूप रखने को कहा।
समारोह का विषय परिवर्तन करते हुए पूर्व अध्यक्ष जयचन्दलाल डागा ने कहा कि सामाजिक सुधार के लिए अपनाये जाने वाले इन तरीकों से विचार भिन्न हो सकते है परन्तु प्रदर्शन व  बड़े भोज की सीमा कहीं न कहीं तो बांधनी होगी। डागा ने कहा कि व्यंजन सीमा के साथ ही सड़कों पर नाच गान व पटाखों आदि पर भी रोक लगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि संकल्प में शक्ति होती है। सामाजिक सुधार तभी प्रभावी होते है, जब नेतृत्व करने वाले व्यक्ति स्वयं उन्हे व्यवहार में लेते है। डागा ने इस सम्बन्ध मे जैन महासभा के अध्यक्ष व पदाधिकारियों का साधुवाद व्यक्त किया कि वे स्वयं इस अभियान में शरीक है और तभी यह अभियान आज गर्व का विषय है।
पूर्व अध्यक्ष जैन लूणकरण छाजेड़ ने जैन महासभा द्वारा वर्ष 2024 के पंचांग के लोकार्पण समारोह में कहा कि भगवान् महावीर के अनुयायी होकर हम प्रदर्शन करतें हैं तो अपने आपको जैन कैसे कह सकतें हैं।  छाजेड़ ने कहा की गंगाशहर तेरापंथ समाज के दो भवनों तेरापंथ भवन व सज्जन निवास में वही व्यक्ति स्नेह भोज का आयोजन कर सकता है जो 21 व्यंजन सीमा अभियान की पालना करता है। उन्होंने महिलाओं को आव्हान करते हुए कहा कि आप अगर सभी संकल्पित हो जाए तो पुरे समाज में क्रान्ति आ जायेगी।
महामंत्री मेघराज बोथरा ने कहा कि  जैन महासभा संगठन, समाज सुधार व विकास के महत्वपूर्ण कार्य कर रही है, इससे समाज को और बड़ी उम्मीदें हो गई है। बोथरा  ने कहा कि वैवाहिक आयोजन सादगीपूर्ण होने चाहिए।
 पूर्व अध्यक्ष इंदरमल सुराणा ने कहा कि सुधार भी दान की भांति घर से शुरू होता है, यह स्वीकृत सत्य है और जैन महासभा के पदाधिकारियों ने अपने घरों से इसकी शुरूआत की है। डागा ने कहा कि जैन महासभा,बीकानेर के अभियान के तहत मुम्बई, सूरत आदि अनेक क्षेत्रों व जैन समाज के अलावा अन्य जाति वर्ग के लोगों ने भी 21 व्यंजन सीमा अभियान के अनुरूप अपने आयोजन किये है।
पंचांग के बारे में जानकारी देते हुए संगठन मंत्री जैन जतनलाल संचेती ने कहा कि पंचांग में तिथि, दिनांक, आयोजन, त्योंहार, सूर्योदय, सूर्यास्त, नवकारसी, पोरसी, दूघड़िया, चौघड़िया, पक्खी, संवत्सरी इत्यादि के साथ ही जैन धर्म के साथ ही अन्य सभी पर्वों व तीर्थकरों के पंचकल्याणक आदि की जानकारी दी गई है। उन्होंने कहा कि 21 व्यंजन सीमा अभियान की घर-घर जानकारी रहे, इसमें इस पंचांग की विशेष भूमिका है। संचेती ने  कहा कि यह पंचाग सभी जैन परिवारों में निःशुल्क वितरित किया जायेगा।
जैन महासभा महिला विंग संयोजिका प्रीति डागा ने बताया की भगवान पार्श्वनाथ जयन्ती पर 6 जनवरी को प्रातः 9 बजे से सायं 4 बजे तक गौड़ी पार्श्वनाथ जैन मंदिर में महिला विंग ने नवकार मन्त्र का जाप का कार्यक्रम आयोजित किया गया है जिसमे सम्पूर्ण समाज को आमंत्रित किया है ।
जैन पंचांग 2024 का लोकार्पण समारोह आयोजित हुआ , सभी को 21 व्यंजन सीमा अभियान से जुड़ने की अपील की
जैन पंचांग का लोकार्पण जैन महासभा के पूर्व अध्यक्ष इन्द्रमल सुराणा, जयचन्दलाल डागाा, जैन लूणकरण छाजेड़, व वर्तमान अध्यक्ष विनोद बाफना व महामंत्री मेघराज बोथरा व  संगठन मंत्री जतनलाल संचेती, कोषाध्यक्ष जसकरण छाजेड़, अशोक श्रीश्रीमाल, पवन छाजेड़ , नारायण चन्द गुलगुलिया, महिला विंग संयोजिका प्रीति डागा, कंचन छलाणी , शांता भूरा  व महिला विंग के पदाधिकारीयों ने किया। आभार ज्ञापन महामंत्री मेघराज बोथरा ने  किया। यह समारोह जैन महासभा के कार्यालय में अयोजित हुआ। समारोह में जैन महासभा व महिला विंग के पदाधिकारी व सदस्य शामिल हुए।

थार एक्सप्रेस
CHHAJER GRAPHIS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *