त्रिदिवसीय संस्कार निर्माण शिविर ‌का समापन

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

शिक्षा और संस्कारों के योग से अच्छे भविष्य का निर्माण संभव

L.C.Baid Childrens Hospiatl

गंगाशहर , 28 दिसंबर। ज्ञानशाला प्रशिक्षण शिविर के अन्तर्गत त्रिदिवसीय शिविर का समापन मुनि श्री श्रेयांश कुमार जी के सानिध्य में हुआ।
मुनीश्री श्रेयांश कुमार जी ने नमस्कार महामंत्र से कार्यक्रम की शुरुआत की। शिविर निर्देशक मुनि श्री चैतन्यकुमार अमन ने अपने सम्बोधन में कहा- किशोर अवस्था से जवानी तक बच्चों के बिगड़ने का समय होता है। जिन बालकों को इस अवस्था के दौरान अच्छे संस्कारों का योग मिल जाता है, वे संस्कारी बालक बन जाते हैं। अन्यथा बिगड़ने में देर नही लगती। बच्चों के बिगड़‌ने में धन, सत्ता, सम्पति,अविवेक और अज्ञान भी बच्चों के बिगड़ने में मुख्य कारण बनते हैं। जो बच्चे आरंभ से ही साधु-सन्तों के सम्पर्क में रहते है। उन्हें अच्छे संस्कारो का योग मिलता है जिससे वे उन बद‌चलन आदतों से बच जाते हैं।

schoks manufacring

मुनि अमन ने आगे कहा- जिस देश में धर्म की गंगा बहती है, ऋषि, महर्षि रहते है। उस समाज और राष्ट्र में संस्कारों की पौध पल्लवित और पुष्यित होती है। सरकारों की सुगंध से समाज सुरक्षित रहता है किन्तु केवल स्कूली शिक्षा बच्चो का निर्माण नहीं कर सकती है शिक्षा और संस्कारों के युगपत योग से अच्छे परिवार, समाज और राष्ट्र का निर्माण संभव है। अतः प्रत्येक अभिभावक बच्चों की शिक्षा के साथ संस्कारों पर सलक्ष्य ध्यान देने का प्रयास करे।

मुनि श्री श्रेयांस कुमार जी ने अपने गीत के साथ बालक बालिकाओं को प्रेरणा प्रदान की व एक कहानी के माध्यम से बच्चों को नैतिक और ईमानदारी का जीवन जीने की प्रेरणा प्रदान की। कार्यक्रम का आगाज ज्ञानशाला के बच्चों ने सामुहिक संगान के अन्तर्गत पार्श्वनाथ स्तुति, संघगान एवं ज्ञानशाला गीत से किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता सभा अध्यक्ष अमरचन्द सोनी ने की। ज्ञानशाला की मुख्य प्रशिक्षिका श्रीमती प्रेम बोथरा, तेरापंथ सभा के मंत्री रतन छलाणी ने विचार व्यक्त किए। तीन दिनों के शिविर में अनेक प्रशिक्षिकाओं ने बालक-बालिकाओं को जैन ज्ञान का प्रशिक्षण दिया।

इस शिविर के दौरान 131ज्ञानार्थियों की शानदार उपस्थिति रही।
कार्यक्रम का संचालन तेयुप कार्यकारिणी सदस्य देवेन्द्र डागा ने किया। ज्ञानशाला सह-प्रभारी रजनीश गोलछा ने बताया कि इन सभी व्यवस्थाओं में ज्ञानशाला संयोजिका सुनीता पुगलिया, ज्ञानशाला प्रभारी चैतन्य रांका, ज्ञानशाला मीडिया प्रभारी संदीप रांका , तेयुप कार्यकारिणी सदस्य विपिन बोथरा व अन्य तेयुप सदस्यों, किशोर मंडल से नीरज बोथरा,निहाल डागा, पीयूष डागा सहित युवा साथी उपस्थित रहे।

 

GYPSUM POWDER

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *