जयपुर की ज़ारा स्विटेंस ड्रेसेज जूनियर राष्ट्रीय घुड़सवारी चैंपियनशिप 2023 की रजक पदक विजेता बनी

हमारे सोशल मीडिया से जुड़े!

जयपुर , 2 जनवरी। जयपुर की ज़ारा स्विटेंस ने हाल ही 22 से 30 दिसंबर 2023 तक बैंगलोर में आयोजित ‘जूनियर नेशनल इक्वेस्ट्रियन चैंपियनशिप 2023’ प्रतिस्पर्धा में भाग लिया।

L.C.Baid Childrens Hospiatl

उन्होंने ड्रेसेज में प्रभावशाली 71.5 प्रतिशत के साथ अपनी श्रेणी में व्यक्तिगत रजक पदक जीता। वे 72 प्रतिशत पर जीते गए स्वर्ण पदक श्रेणी से मामूली रूप से चूक गई। उन्होंने टीम ड्रेसेज इवेंट में सर्वोच्च स्कोरिंग राइडर बनकर अपनी टीम को रजत पदक दिलाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

schoks manufacring

इससे एक महीने पहले ज़ारा ने एफईआई चिल्ड्रन्स क्लासिक 2023 में प्रतिस्पर्धा की थी, जिसमें भारत के कुछ सर्वश्रेष्ठ अश्वो और घुड़सवारों ने इस आयोजन में पुरस्कार के लिए प्रतिस्पर्धा की थी। यह नवंबर 2023 के महीने में नई दिल्ली में आयोजित एक अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम था। वह अपने पसंदीदा घोड़े वर्सिंगेटोरिक्स पर सवार थी और एक शानदार राउंड के बाद इस जोड़ी ने विश्व रैंकिंग के साथ व्यक्तिगत रजत जीता, जिसे जल्द ही अंतर्राष्ट्रीय घुड़सवारी महासंघ वेबसाइट में प्रकाशित किया जाएगा।

अगस्त के महीने में, ज़ारा ने जयपुर में आयोजित सप्त शक्ति हॉर्स शो में बच्चों के साथ-साथ सीनियर वर्ग की प्रतियोगिताओं में छह स्वर्ण पदक, 4 रजत पदक और दो कांस्य पदक जीते, जिसमें वह सीनियर वर्ग में सबसे कम उम्र की प्रतिभागी थी। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि मेजर जनरल आरएस गोदारा, जीओसी 61 सब एरिया द्वारा उन्हें घुड़सवारी खेल में उत्कृष्टता के लिए एक ट्रॉफी भी प्रदान की गई।

ज़ारा ने 3 साल की छोटी उम्र में घुड़सवारी की दुनिया में अपनी यात्रा शुरू की और उसके बाद कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। उसका सपना है कि वह एक दिन ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करे और देश के लिए पदक जीते। वह अब जनवरी में नई दिल्ली में होने वाली आगामी सीएसएन जंपिंग की तैयारी कर रही है और अपने शानदार प्रदर्शन को जारी रखने की उम्मीद कर रही है।

ज़ारा सेना अधिकारियों के वंश से है और अपने पिता लेफ्टिनेंट कर्नल डैनी स्विटेंस के साथ प्रशिक्षण लेती है, जो की 61वीं कैवलरी में कार्यरत है और खुद एक कुशल घुड़सवार हैं। उन्होंने थाईलैंड में एशियाई चैंपियनशिप में इवेंटिंग में भारत के लिए रजत पदक जीता है और कई मौकों पर देश का प्रतिनिधित्व किया है।

GYPSUM POWDER

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *